scorecardresearch
 

गुजरात: पुलिस के रोकने से शांत प्रदर्शन हुआ हिंसक, 5 पुलिसकर्मी घायल, धारा 144 लागू

सूरत के नानपुरा इलाके में पुलिस ने लोगों को रैली करने से रोका तो उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया, इस झड़प के दौरान 4-5 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं.

प्रदर्शन के दौरान हिंसा (फोटो-ANI) प्रदर्शन के दौरान हिंसा (फोटो-ANI)

गुजरात के सूरत में मॉब लिंचिंग के खिलाफ शांतिपूर्ण तरीके से हो रहे प्रदर्शन ने अचानक हिंसक रूप ले लिया. सूरत के नानपुरा इलाके में लोगों ने मौन रेली का आयोजन किया, हालांकि पुलिस ने रैली की इजाजत नहीं दी. पुलिस ने लोगों को जब रैली करने से रोका तो उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया, इस झड़प के दौरान 4-5 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं.

मॉब लिंचिंग के नाम पर निकली मौन रैली में शामिल भीड़ ने ना सिर्फ पुलिस पर हमला किया बल्कि सिटी बसों में तोड़फोड़ भी की. पुलिस ने भीड़ और हिंसा पर काबू पाने के लिए हवाई फायरिंग की और आंसू गैस के गोले छोड़े. बढ़ती हिंसा को देखते हुए इलाके में धारा 144 लगा दी गई है.

बता दें कि पिछले महीने गुजरात में भीड़ द्वारा एक युवक को पीटने की घटना सामने आई थी. भीड़ ने एक युवक को नंगा करके बीच चौराहे पर पीटा था. जब युवक की पिटाई हो रही है तो गांव के सैकड़ों लोग खड़े होकर तमाशा देख रहे थे. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ था. दाहोद जिले के फतेपुरा तहसील में यह घटना हुई थी.

गौरतलब है कि इन दिनों ऐसे कई मामले सामने आ रहे हैं, जहां पर भीड़ तंत्र की गुंडागर्दी दिख रही है. हाल ही में झारखंड में भी चोरी के आरोप में एक मुस्लिम युवक को भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला था. लिंचिंग के मामलों की गूंज संसद के दोनों सदनों में भी सुनाई दी थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें