scorecardresearch
 

गुजरात: जामनगर, राजकोट में बाढ़ का कहर, NDRF की 18 टीमें रेस्क्यू में जुटीं

गुजरात एनडीआरएफ के डिप्टी कमांडेंट रणविजय सिंह ने कहा कि अब तक 39 लोगों को बचाया गया है और 11 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है. एक शव भी बरामद हुआ है. राजकोट और पोरबंदर में टीमें बचाव कार्य में जुटी हैं.

राजकोट में लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाती रेस्क्यू टीम (फोटो- पीटीआई) राजकोट में लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाती रेस्क्यू टीम (फोटो- पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राजकोट में 3000 लोगों का किया गया रेस्क्यू
  • गुजरात के सीएम भूपेंद्र पटेल ने किया जामनगर का दौरा

गुजरात के जामनगर और राजकोट में लगातार हो रही बारिश के चलते बाढ़ जैसे हालात हैं. गुजरात के नए मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने जामनगर के धुंवाव गांव का दौरा किया. यह गांव बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित है. गुजरात में बाढ़ की संभावना वाली जगहों पर एनडीआरएफ की 18 टीमें तैनात की गई हैं. इसके अलावा एसडीआरएफ, पुलिस और फायर विभाग भी रेस्क्यू अभियान में जुटा है.

गुजरात एनडीआरएफ के डिप्टी कमांडेंट रणविजय सिंह ने कहा कि अब तक 39 लोगों को बचाया गया है और 11 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है. एक शव भी बरामद हुआ है. राजकोट और पोरबंदर में टीमें बचाव कार्य में जुटी हैं. उन्होंने बताया कि गुजरात में एनडीआरएफ की 20 टीमें हैं, इनमें से 18 टीमों को बारिश होने की संभावना वाले स्थानों पर तैनात किया गया है. दो टीमें रिजर्व में हैं. 
 
सीएम बोले- हर संभव मदद देंगे

मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने ग्रामीणों से बात की और बारिश से हुए नुकसान की जानकारी ली. उन्होंने बाढ़ पीड़ितों को राज्य सरकार द्वारा हर संभव सहायता का आश्वासन दिया. उन्होंने सरकार की ओर सभी लोगों की मदद का भरोसा दिलाते हुए सरकारी सहायता से कोई वंचित नहीं रहेगा. 
 
राजकोट में भी हालात बुरे

गुजरात के सिर्फ जामनगर में ही नहीं राजकोट में भी बाढ़ से हालात बुरे हैं, राजकोट एसपी बलराम मीना ने कहा कि भारी बारिश के बाद राजकोट के निचले इलाकों में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं. प्रभावित लोगों के लिए बचाव अभियान जारी है. भारी बारिश के चलते निचले इलाकों में पानी भर गया है. पुलिस, फायर विभाग, NDRF, SDRF और अन्य टीमें मिलकर लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा रही हैं. हमने अभी तक पूरे जिले से 3000 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित निकाला है. 

पिछले 24 घंटों में 13 इंच बारिश हुई

राजकोट में भारी बारिश के बाद कई हिस्सों में जलभराव हो गया है. राजकोट महानगरपालिका के कमिश्नर अमित अरोरा का कहना हे की, शहरी क्षेत्र में पिछले 24 घंटों में 13 इंच बारिश हुई है. निचले क्षेत्रों में जलभराव की समस्या की वजह से 1400 लोगों को शिफ्ट किया गया है. 335 लोगों को बचाया गया है. शहर के अंदर से पानी धीरे-धीरे नीचे जा रहा है. ग्रामीण क्षेत्रों में पानी का बहाव जारी है. आजी बांध 29 फीट पर ओवरफ्लो करता है वो अभी 27 फीट पर है. आजी बांध ओवरफ्लो होता है तो हमने ज्वाइंट फायर और पुलिस की 16 अलग-अलग टीमें बनाई हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें