scorecardresearch
 

कृषि कानूनः किसानों का समर्थन जुटाने को 2 दिन के गुजरात दौरे पर राकेश टिकैत

किसान नेता राकेश टिकैत आंदोलन को गति देने के लिए अलग-अलग राज्यों का दौरा कर माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं. 4 और 5 अप्रैल को राकेश टिकैत पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह के गृह राज्य के दौरे पर आ रहे हैं.

किसान नेता राकेश टिकैत (फाइल-पीटीआई) किसान नेता राकेश टिकैत (फाइल-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राकेश टिकैत की ट्रैक्टर यात्रा आबू रोड से गुजरात में प्रवेश करेगी
  • गुजरात कांग्रेस ने किया दो दिवसीय गुजरात यात्रा का समर्थन
  • पूर्व CM वाघेला भी टिकैत के साथ महासम्मेलन में होंगे शामिल

कृषि कानूनों के विरोध में किसान नेता राकेश टिकैत देशभर में किसानों का समर्थन जुटाने में लगे हैं. इस सिलसिले में टिकैत अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के गृह राज्य गुजरात जा रहे हैं और वहां अपने दो दिन के दौरे के दौरान किसानों से मुलाकात करेंगे.

किसान नेता राकेश टिकैत कल रविवार को गुजरात जाएंगे और वहां सोमवार तक रहेंगे. गुजरात कांग्रेस ने राकेश टिकैत की दो दिवसीय गुजरात यात्रा का समर्थन किया है. किसान संघर्ष मंच द्वारा टिकैत की ट्रैक्टर यात्रा का आबू रोड पर भव्य स्वागत किया जाएगा. टिकैत की ट्रैक्टर यात्रा आबू रोड से गुजरात में प्रवेश करेगी.

किसान नेता आंदोलन को गति देने के लिए अलग-अलग राज्यों का दौरा कर माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं. 4 और 5 अप्रैल को राकेश टिकैत पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह के गृह राज्य के दौरे पर आ रहे हैं.

गुजरात कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित चावड़ा ने इस सिलसिले में जानकारी देते हुए कहा कि देश का हर एक नागरिक इस काले कानून का विरोध कर रहा है और इसकी वापसी के लिए लड़ाई लड़ रहा है.

किसान आंदोलन चार महीने से ज्यादा वक्त से चल रहा है. किसान मोदी सरकार द्वारा लाए गए तीनों कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं. इस दौरान आंदोलन कर रहे 250 से अधिक किसानों की मौत हो चुकी है. हालांकि केंद्र सरकार अब तक कोई समाधान नहीं निकाल सकी है.

गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष अमित चावड़ा ने कहा कि पहले दिन से कांग्रेस ने संसद से लेकर सड़क तक किसान आंदोलन का समर्थन किया है. गुजरात कांग्रेस ने भी 28 सितंबर को राज्यपाल को एक आवेदन सौंपा था जिसमें राष्ट्रपति से इसे कानून बनाने से रोकने का अनुरोध किया गया था.

शंकरसिंह वाघेला भी होंगे शामिल

अमित चावड़ा ने राकेश टिकैत की गुजरात यात्रा को लेकर कहा कि कांग्रेस पहले से ही इस कानून का पूरे देश में विरोध करते आई है. राकेश टिकैत कल से गुजरात के दौरे पर आ रहे हैं. उनका गांधी-सरदार की भूमि पर स्वागत किया जाएगा. गांधी-सरदार की भूमि आंदोलन की भूमि है.

ये महासम्मेलन 4 और 5 अप्रैल को होगा, जिसकी शुरुआत कल रविवार को गुजरात में शक्तिपीठ मां अंबाजी के दर्शन के साथ की जाएगी. इस दौरान राकेश टिकैत गुजरात में बनासकांठा जिले के पालनपुर में और दक्षिण गुजरात में बारडोली में किसान महासम्मेलन को संबोधित करेंगे. पूर्व मुख्यमंत्री शंकरसिंह वाघेला भी उनके साथ इस महासम्मेलन में शामिल होंगे.

राकेश टिकैत सुबह 11 बजे अंबाजी पहुंचेंगे, दोपहर 12.30 बजे वह मंदिर में दर्शन करेंगे. और 2.30 बजे पालनपुर में किसान संवाद करेंगे. दिलचस्प बात यह है कि उत्तर गुजरात में ज्यादातर पाटीदार किसान हैं, वैसे में पाटीदारों के जोड़ने के प्रयास के तौर पर राकेश टिकैत पाटीदारों की कुलदेवी उंझा उमियाधाम शाम 5 बजे पहुंचेंगे. दर्शन के बाद रात को राकेश टिकैत गांधीनगर में ही रुकेंगे.

राकेश टिकैत अगले दिन सोमवार को सुबह करीब 7 बजे अहमदाबाद में गांधी आश्रम में राष्ट्रपिता को माला आर्पण कर, सरदार पटेल की जन्मभूमी करमसद पहुंचेंगे. दोपहर बाद 3 बजे वह बारडोली में किसानों से संवाद करेंगे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें