scorecardresearch
 

ठिठुरती सर्दी में रैन बसेरों में पहुंची AAP की मंत्री राखी बिड़ला, केयरटेकर को लगाई फटकार

जब लोग 31 दिसंबर की रात को जश्‍न मना रहे थे, नए साल के स्‍वागत में पार्टी कर रहे थे, शोरशराबे के बीच 2014 दस्तक दे रहा था तो उस समय आम आदमी पार्टी की नेता और महिला एवं बाल विकास मंत्री राखी बिड़ला रैन बसेरों का दरवाजा खटखटा रही थीं.

31 दिसंबर की रात, जब आप नए साल का जश्न मनाने की तैयारी कर रहे थे, आम आदमी पार्टी की नेता और दिल्ली सरकार की नई नवेली महिला और बाल विकास मंत्री राखी बिड़ला रैन बसेरों में लोगों की तकलीफें सुन रही थीं.

दिल्‍ली के रैन बसरों में पर्याप्‍त व्‍यवस्‍था ना होने पर लोग ठिठुरने को मजबूर है. ठिठुरती सर्दी में ऐसे ही लोगों के पास राखी बिड़ला पहुंची. राखी बिड़ला ने कई रैन बसेरों का जायजा लिया और साफ सफाई को लेकर सख्त निर्देश दिए. यही नहीं, उन्‍होंने रैन बसेरों से ही रात को फोन करके अफसरों को फटकार भी लगाई.

राखी बिड़ला ने वहां पहुंचकर गंदगी को लेकर पूछताछ किया. साफ-सफाई की हालत ऐसी थी कि बदबू की वजह से खड़ा होना मुश्किल था. रैन बसेरों का नजारा ये था कि कुत्ते भी ठंड से बचने के लिए वहां थे.

जब राखी बिड़ला ने पड़ताल शुरू की तो केयरटेकर वहां मौजूद ही नहीं था. फोन कर बुलाया और साफ सफाई का निर्देश दिया. फोन पर उन्होंने कहा, 'आप कहां हैं? यहां की केयरटेकिंग आपके जिम्मे है? कहां रेस्क्यू कर रहे हैं, आप बताइए. एस ब्लॉक में कहीं नहीं हो रहा रेस्क्यू. मैं तो वहीं से आ रही हूं.' सिर्फ महिला एवं बाल विकास मंत्री का ही नहीं, आम आदमी पार्टी की युवा मोर्चा का नया साल भी इन्ही रैन बसेरों में गुजरा.

झंडेवालान की रैन बसेरा में आश्रित महिला गीता ने कहा, 'अच्छा लग रहा है कोई हमारी मदद के लिए आया है. ऐसा पहली बार हुआ है कि कोई मंत्री हम लोगों की हालत जानने रैन बसेरे में आया हो.'


आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें