scorecardresearch
 

इंडिया गेट की दीवार पर दिखाया किसानों की बदहाली का वीडियो

एक बड़े प्रोजेक्टर के माध्यम से सैकड़ों पर्यटकों-दर्शकों की मौजूदगी में किसानों की बदहाली को दिखाया गया. इंडिया गेट की दीवार पर चलाए गए इस वीडियो को देखकर सैकड़ों पर्यटक वहीं रुक गए.

इंडिया गेट पर किसानों की बदहाली का वीडियो इंडिया गेट पर किसानों की बदहाली का वीडियो

योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण की पार्टी स्वराज इंडिया लंबे समय से किसानों को एक मंच पर एकजुट करने का काम कर रही है. इसी बाबत योगेंद्र यादव ने पूरे देश की यात्रा भी की है. इसी कड़ी में किसान मुक्ति संसद को लेकर प्रचार अभियान को तेज करते हुए स्वराज इंडिया के कार्यकर्ताओं ने ऐतिहासिक इंडिया गेट की दीवार पर वीडियो चलाकर किसानों का दर्द बयां किया.

एक बड़े प्रोजेक्टर के माध्यम से सैकड़ों पर्यटकों-दर्शकों की मौजूदगी में किसानों की बदहाली को दिखाया गया. इंडिया गेट की दीवार पर चलाए गए इस वीडियो को देखकर सैकड़ों पर्यटक वहीं रुक गए. स्वराज इंडिया दिल्ली अध्यक्ष अनुपम ने कहा कि जब सरकार खेती किसानी जैसे देशव्यापी संकट के प्रति बेसुध और बेखबर पड़ी है, स्वराज इंडिया का यह प्रचार अभियान सरकार का इस ओर ध्यान दिलाने की कोशिश है.

स्वराज इंडिया के कार्यकर्ताओं ने एक प्रोजेक्टर के माध्यम से देश में अब तक खुदकुशी कर चुके किसानों की संख्या को इंडिया गेट की उन दीवारों पर चस्पा किया जहां पर देश के शहीदों के नाम लिखे हुए हैं.

वीडियो के साथ-साथ 'जो शहीद हुए हैं उनकी जरा याद करो कुर्बानी' गाना बजाकर किसानों की शहादत की दास्तां इंडिया गेट की दीवार पर दर्ज की गई. स्वराज इंडिया दिल्ली प्रमुख अनुपम ने कहा कि घाटे कर्जें में रहने के बावजूद किसान फसल उपजाकर 125 करोड़ लोगों का पेट भरता रहा है और जब कर्जे के जाल से मुक्त होता ना देख आत्महत्या कर लेता है, वह शहीद का दर्जा प्राप्त करता है. इन आत्महत्याओं के लिए सरकार जिम्मेदार है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें