scorecardresearch
 

अगले सात दिनों तक दिल्ली, राजस्थान और मध्य प्रदेश समेत कई राज्यों में होगी जोरदार बारिश

मानसून की इस मेहरबानी के पीछे अरब सागर से आ रही हवाओं और बंगाल की खाड़ी से आ रही नम हवाओं के मेल मिलाप को काफी हद तक जिम्मेदार माना जा रहा है.

जम्मू में बारिश के बाद कई जगह काफी पानी जमा हो गया जम्मू में बारिश के बाद कई जगह काफी पानी जमा हो गया

मानसून की झमाझम बारिश का सिलसिला उत्तर-पश्चिम भारत के कई इलाकों में जारी है. मौसम विभाग के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर और तेलंगाना के तमाम इलाकों में पिछले 24 घंटों में जोरदार बारिश रिकॉर्ड की गई. हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उड़ीसा, राजस्थान, पश्चिमी मध्य प्रदेश, मराठवाड़ा विदर्भ और तटीय आंध्र प्रदेश में कई जगह रिमझिम बारिश से लोग सराबोर रहे.

मानसून की इस मेहरबानी के पीछे अरब सागर से आ रही हवाओं और बंगाल की खाड़ी से आ रही नम हवाओं के मेल मिलाप को काफी हद तक जिम्मेदार माना जा रहा है. शुष्क मौसम के लिए मशहूर राजस्थान में पिछले दो दिनों से मानसूनी बारिश ने जोर पकड़ लिया है. गंगानगर, जोधपुर, सवाई माधोपुर, उदयपुर और जैसलमेर में कई जगह अच्छी बारिश रिकॉर्ड की गई है.

मौसम विभाग का कहना है कि राजस्थान में मानसूनी बारिश का ये दौर अगले दो दिनों तक जारी रह सकता है. इसके पीछे जो वजह बताई जा रही है वो एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन है, जो मध्य प्रदेश और राजस्थान की सीमा पर बना हुआ है. इस वेदर सिस्टम के चलते घने बादल बन रहे हैं जिससे जोरदार बारिश हो रही है.

उत्तराखंड में जारी रहेगा जोरदार बारिश का सि‍लसिला
जहां एक तरफ राजस्थान में बारिश ने जोर पकड़ा है तो वहीं दूसरी तरफ उत्तराखंड को भारी बारिश से निजात मिलती फिलहाल नजर नहीं आ रही है. मौसम के जानकारों का कहना है कि अरब सागर से आ रही दक्षिण पश्चिम नम हवाएं हिमालय की तलहटी से उत्तराखंड में घुस रही हैं और पहाड़ों पर इनका सामना बंगाल की खाड़ी से आ रही नम हवाओं से हो रहा है. इस वजह से उत्तराखंड में अब और भी ज्यादा बारिश की संभावना है. मौसम विभाग का कहना है कि अगले सात दिनों यानी अगस्त की शुरुआत तक उत्तराखंड की पहाड़ियों में जोरदार बारिश का सिलसिला बना रहेगा.

जून से अब तक 418 सेंटीमीटर बारिश
मानसून की अब तक की स्थिति की बात करें तो जून से आज की तारीख तक पूरे देश में अभी तक 418 सेंटीमीटर तक की बारिश हो चुकी है जबकि सामान्य बारिश 415 सेंटीमीटर है. लिहाजा मानसून की स्थिति पूरी तरह से सामान्य है और ऐसा अनुमान है कि अगस्त में ये बारिश पूरे देश एक बार फिर से तेजी पकड़ेगी, जिससे गंगा-यमुना के मैदानी इलाकों के साथ-साथ हिमालय की पहाड़ियों में जोरदार बारिश होने की पूरी संभावना है.

एक हफ्ता इन राज्यों को भिगोएगी बारिश
मौसम विभाग का कहना है दिल्ली एनसीआर, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, आंध्र प्रदेश, उड़ीसा, छत्तीसगढ़, झारखंड और पश्चिमी बंगाल में अगले सात दिनों तक जोरदार बारिश का सिलसिला जारी रहेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें