scorecardresearch
 

दिल्ली में सोनिया एक और राहुल गांधी करेंगे दो रैलियां

राजधानी दिल्ली में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस ज्यादा प्रचार नहीं करेगी. ये जानते हुए कि दिल्ली में अपने अस्तित्व को बनाए रखने के लिए इन चुनावों में कांग्रेस करो या मरो वाली स्थिति में है, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सिर्फ एक और राहुल गांधी 2 रैली करेंगे.

राजधानी दिल्ली में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस ज्यादा प्रचार नहीं करेगी. ये जानते हुए कि दिल्ली में अपने अस्तित्व को बनाए रखने के लिए इन चुनावों में कांग्रेस करो या मरो वाली स्थिति में है, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सिर्फ एक और राहुल गांधी 2 रैली करेंगे.

कांग्रेस पार्टी के नेता ने बताया कि गांधी परिवार सिर्फ 10 दिन के लिए ही प्रचार करने उतरेंगे. लेकिन बाकी 6 मुख्यमंत्रियों और बाकी वरिष्ठ नेताओं की अगर बात की जाए तो कुल 40 नेता मिलकर दिल्ली में करीब 150 सभाएं करेंगे. साल 2013 में भी हाईकमान ने भी कम प्रचार किया था. उस समय पूर्व चीफ मीनिस्टर शीला दीक्ष‍ित को डर था कि ज्यादा दिखावे से यूपीए के लिए सत्ता विरोधी लहर उठ सकती थी.

कांग्रेस के लिए सत्ता में वापस आना दिल्ली में अपने भविष्य को बनाए रखने के लिए बेहद जरूरी है. हालांकि इतिहास गवाह रहा है कि किसी भी राज्य में अगर कांग्रेस नीचे गिरकर तीसरे स्थान पर पहुंची है तो बड़ी मुश्किल से वापसी कर पाई है. लेकिन कुछ लोगों का मानना है कि लो प्रोफाइल और शांतिपूर्ण प्रचार पार्टी की पोजीशन सुधारने के लिए बेहतर रहेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें