scorecardresearch
 

दिल्ली: प्रॉपर्टी के लिए भाई ने की सगे भाई की हत्या, नहर में बहा दिया शव, गिरफ्तार

भाई की हत्या करने के बाद आरोपी ने उसका शव लोहे के बॉक्स में रखकर मुनक नहर में ठिकाने लगा दिया और खुद ही थाने पहुंचकर भाई के लापता होने की शिकायत दर्ज करा दी.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • शराब के नशे में कर दी थी हत्या
  • समयपुर बादली इलाके की घटना
  • दर्ज कराई थी गुमशुदगी की रिपोर्ट

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में रिश्तों को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है. दिल्ली के समयपुर बादली इलाके में एक भाई की उसी के सगे भाई ने प्रॉपर्टी के विवाद में गला घोंटकर निर्मम हत्या कर दी. भाई की हत्या करने के बाद आरोपी ने उसका शव लोहे के बॉक्स में रखकर मुनक नहर में ठिकाने लगा दिया और खुद ही थाने पहुंचकर भाई के लापता होने की शिकायत दर्ज करा दी.

भाई के लापता होने के पोस्टर भी छपवा दिए थे. अब पुलिस ने भाई की हत्या के आरोप में उसके भाई को ही गिरफ्तार कर लिया है. पकड़े गए आरोपी की पहचान विवेक झा के रूप में हुई है. जानकारी के मुताबिक मृतक युवक की पहचान दिलीप झा के रूप में हुई है. बताया जाता है कि पुलिस ने 15 अक्टूबर को हैदरपुर वाटर प्लांट में एक लोहे के बॉक्स में पड़ी युवक की लाश बरामद की थी.

देखें: आजतक LIVE TV

युवक ने जो पैंट पहन रखी थी, उस पर एक दर्जी का स्टीकर लगा था जो बादली इलाके के एक दर्जी यादव एंड संस टेलर लिखा हुआ था. पुलिस ने टेलर से पूछताछ की, जिसमे ये सामने आया कि मृतक युवक इलाके का ही रहने वाला था. थाने में लिखी गुमशुदगी की रिपोर्ट को खंगाला गया, जिसके बाद राजा विहार में परिवार के साथ रहने वाले विवेक झा को बुलाया गया. अपने भाई सतीश झा के साथ पहुंचे विवेक ने शव की शिनाख्त अपने भाई दिलीप झा के रूप में की. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला घोंटकर हत्या करने की बात सामने आई.

दिलीप झा (फाइल फोटो)
दिलीप झा (फाइल फोटो)

पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर विवेक से पूछताछ की तो उसके बयानों में विरोधाभास सामने आया. इस बीच पुलिस ने पिछले दो महीने से अपने मायके बिहार के मुजफ्फरपुर में रह रही दिलीप की पत्नी खुशबू से पूछताछ की तो पता चला कि उसका अपने भाइयों से प्रॉपर्टी को लेकर विवाद चल रहा था. खुश्बू ने बताया कि दिलीप की कई बार भाइयों से हाथापाई तक हो चुकी थी. दिलीप की पत्नी ने पुलिस को यह भी बताया कि दिलीप ने 14 अक्टूबर को उसे फोन किया था और विवादों को लेकर बात की थी.

पुलिस के मुताबिक पत्नी के बयान के बाद विवेक से पूछताछ की गई तो उसने हत्या का जुर्म कबूल कर लिया. विवेक ने पुलिस को बताया कि 15 अक्टूबर की रात 11 बजे उसने शराब पी रखी थी. उसका दिलीप से झगड़ा हुआ था. हाथापाई के दौरान उसने दिलीप की गला घोंटकर हत्या कर दी थी. मृतक के भाई ने यह भी बताया कि हत्या के बाद उसने शव को लोहे के एक छोटे से बक्से में डालकर बाहर निकाला और अपनी ऑटो (छोटा हाथी) से मुनक नहर में डालकर वापस आ गया था. इसके बाद उसने बादली थाने में भाई की गुमशुदगी की झूठी रिपोर्ट दर्ज कराई.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें