scorecardresearch
 

जेएनयू कैंपस में हुई प्रेजिडेंशियल डिबेट

बुधवार रात जेएनयू एक बार फिर छात्र संघ चुनाव के रंग में सराबोर नजर आया. चुनाव प्रचार के आखिरी दिन जेएनयू कैंपस में छात्र संघ चुनाव के लिए प्रेजिडेंशियल डिबेट हुई जिसमें जोर शोर से कैंपस से लेकर महिला सुरक्षा तक के मसले उठे.

बुधवार रात जेएनयू एक बार फिर छात्र संघ चुनाव के रंग में सराबोर नजर आया. चुनाव प्रचार के आखिरी दिन जेएनयू कैंपस में छात्र संघ चुनाव के लिए प्रेजिडेंशियल डिबेट हुई जिसमें जोर शोर से कैंपस से लेकर महिला सुरक्षा तक के मसले उठे.

छात्र संगठनों के समर्थकों के हंगामे के चलते बीच-बीच में ये प्रेजिडेंशियल डिबेट कई बार रोकनी पड़ी. हजारों छात्रों की मौजूदगी में हुई इस अनूठी डिबेट में हॉस्टल, महिला सुरक्षा और जेएनयू छात्रों से जुड़े मुद्दों को ज्यादा तरजीह मिली.

इस बार कुल 22 उम्मीदवार मैदान में हैं जिसमें कजाकिस्तान का एक छात्र अखमदबेकोव भी शामिल है. पिछले चुनाव में छात्र संगठन डीएसएफ यानी डेमोक्रेटिक स्टूडेंट फेडरेशन ने अध्यक्ष पद पर कब्जा जमाया था. इस बार मुकाबला वामपंथी संगठन आइसा, डीएसएफ और एसएफआई के उम्मीदवारों के बीच माना जा रहा है.

जेएनयू में मतदान 13 सितंबर को होना है. जबकि वोटों की गिनती अगले दिन यानि शनिवार से शुरू होगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें