scorecardresearch
 

मोदी, केजरीवाल ने नहीं सुनी तो नाखुश लोगों ने ट्रंप को लिख दी चिट्ठी

पालम स्टेशन पर चेतक एक्सप्रेस का स्टॉपेज बनाने की मांग. पीएम, सीएम से भी लगाई गुहार. मांग न माने जाने पर ट्रंप को लिखी चिट्ठी.

फाइल फोटो (इंडिया टुडे आर्काइव) फाइल फोटो (इंडिया टुडे आर्काइव)

भारतीय रेल की शिकायत अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पास पहुंची है. पालम स्टेशन पर चेतक एक्सप्रेस का स्टॉप बनाने के लिए रेल में सफर करने वाले मुसाफिरों के संगठन दैनिक यात्री संघ ने ट्रंप को चिट्ठी लिखी है. ट्रंप से गुहार लगाई गई है कि कई साल बीत जाने के बाद भी उनकी मांग नहीं मानी जा रही, इसलिए वे ही कुछ करें.

संघ का कहना है कि उन्होंने इस बाबत प्रधानमंत्री से लेकर मुख्मयंत्री अरविंद केजरीवाल से भी गुहार लगाई, लेकिन हुआ कुछ भी नहीं. इसलिए टि्वटर के माध्यम से वे अपनी मांग राष्ट्रपति ट्रंप तक पहुंचा रहे हैं.

चेतक एक्सप्रेस दिल्ली के सराय रोहिल्ला से उदयपुर सिटी, राजस्थान के लिए हर रोज चलती है. सराय रोहिल्ला से चलकर चेतक एक्सप्रेस दिल्ली कैंट रेलवे स्टेशन पर रुकती है. उसके बाद गुरुग्राम में स्टॉपिंग है. दैनिक यात्री संघ की लंबे समय से मांग है कि रेल यात्रियों की परेशानियों को देखते हुए पालम स्टेशन पर भी 2 मिनट ट्रेन रुके. इससे कई विधानसभा की जनता, महिलाएं, बच्चे और खाटू श्याम के भक्तों को दूर के स्टेशनों पर नहीं जाना पड़ेगा.

दिल्ली रिवाड़ी रूट पर पालम रेलवे स्टेशन पड़ता है. इस स्टेशन पर चेतक एक्प्रेस (12981-12982 गाड़ी नंबर) का ठहराव नहीं है. स्टॉपेज के लिए मुसाफिर और इस इलाके के लोग कई बार प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और रेल मंत्रालय को पत्र लिख चुके हैं. पालम रेलवे स्टेशन से लगते कई विधानसभा क्षेत्र हैं. द्वारका जैसा बड़ा आबादी वाला इलाका है. साथ ही सैकड़ों कॉलोनियां हैं जहां कई लाख लोगों की आबादी बसती है. इनकी सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए कई साल से ये मांग की जा रही है, लेकिन अभी तक कुछ नहीं बदला.

सबसे बड़ी बात ये है कि चेतक एक्सप्रेस राजस्थान में हिंदुओं के सबसे बड़े आस्था के केंद्र खाटू श्याम धाम को भी जोड़ती है. खाटू श्याम के दर्शन करने बड़ी तादाद में श्रद्धालु राजस्थान जाते हैं. लोगों की मांग है कि अगर पालम स्टेशन पर चेतक का स्टॉप बन जाए तो लाखों मुसाफिरों के साथ बड़ी तादात में सफर करने वाले श्रद्धालुओं को बड़ी राहत मिलेगी. मांग न माने जाने पर आखिकार तंग आकर दैनिक यात्री संघ ने अपनी गुहार अमेरिका तक पहुंचा दी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें