scorecardresearch
 

केजरीवाल का ऐलान- MCD कर्मियों को 31 जनवरी तक की सैलरी देगी दिल्ली सरकार

हड़ताल पर बैठे निगम कर्मचारियों ने NH24 पर जगह-जगह पुतले फूंके. इससे वाहनों की रफ्तार थम गई और हाईवे पर लोगों को लंबे जाम का सामना करना पड़ रहा है.

प्रदर्शन के दौरान कई जगह फूंके जा रहे हैं पुतले प्रदर्शन के दौरान कई जगह फूंके जा रहे हैं पुतले

दिल्ली में 8 दिनों से जारी एमसीडी हड़ताल को लेकर सीएम केजरीवाल ने बंगलुरु में प्रेस कॉन्फ्रेंस की और बीजेपी पर जमकर हमला बोला. केजरीवाल ने कहा कि एमसीडी को सारा पैसा दिया जा चुका है लेकिन बीजेपी इसपर सियासत कर रही है. केजरीवाल ने कहा कि हड़ताल की आड़ में बीजेपी ने दिल्ली में कूड़ा फैलाया.

केजरीवाल के बड़े ऐलान
केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार MCD कर्मियों को 31 जनवरी तक की सैलरी देगी. शिक्षा बजट में कटौती करके एमसीडी को 550 करोड़ का लोन दिया जाएगा. साथ ही उन्होंने दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से इस बात की संभावना तलाशने के लिए कहा है कि क्या सरकार एमसीडी के अस्पतालों को टेक ओवर कर सकती है. अगर ऐसा संभव है तो दिल्ली सरकार एमसीडी के 8 अस्पतालों को अपने अंडर ले लेगी.

हड़ताल वापस लेने की अपील
केजरीवाल का एमसीडी को आर्थिक मदद के ऐलान के बाद कर्मचारियों से हड़ताल वापस लेने की अपील की है. केजरीवाल ने कहा कि एमसीडी के कर्मचारी उनके अपने परिवार की तरह हैं.

इससे पहले सीएम अरविंद केजरीवाल ने बंगलुरु से ट्वीट कर कहा था कि हड़ताल का समाधान जल्द हो सकता है. केजरीवाल ने कहा था कि तीन बजे वे ऐलान करेंगे. केजरीवाल ने उम्मीद जताई कि हल से सब संतुष्ट होंगे.

मोदी सरकार पर निशाना
एमसीडी के मामले को लेकर भी केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर निशाना साधने का मौका नहीं गंवाया. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाना चाहती है. केंद्र सरकार दिल्ली सरकार पर दबाव बनाना चाहती है.

दिल्ली में एमसीडी कर्मियों की हड़ताल के बीच दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की. लगभग 30 मिनट तक चली बैठक में दिल्ली के विभिन्न मुद्दों पर बातचीत हुई.

बुधवार को दिल्ली में निगम कर्मचारियों की हड़ताल को आठ दिन हो गए. प्रदर्शन कर रहे MCD कर्मचारियों ने व्यस्ततम NH24 को पूरी तरह जाम कर दिया. प्रदर्शनकारियों में सफाईकर्मी और डॉक्टर्स शामिल हैं.

जगह-जगह पुतले फूंके
हड़ताल पर बैठे निगम कर्मचारियों ने NH24 पर जगह-जगह पुतले फूंके. इससे वाहनों की रफ्तार थम गई और हाईवे पर लोगों को लंबे जाम का सामना करना पड़ रहा है.

जगह-जगह फेंका जा रहा है कूड़ा
हड़ताल की वजह से एमसीडी में कामकाज ठप होने के साथ ही सड़कों का हाल भी बेहाल है. गुस्साए कर्मचारियों ने जगह-जगह कूड़ा डाल दिया है. इससे भी वाहनों की रफ्तार धीमी हो रही है और पूरी दिल्ली में जाम की स्थिति हो गई है.

वेतन में देरी की वजह से कर रहे प्रदर्शन
MCD कर्मचारी चार महीने से वेतन न मिलने को लेकर हड़ताल पर हैं. यह मामला हाईकोर्ट तक भी पहुंच चुका है. मंगलवार को दिल्ली हाई कोर्ट में इसकी सुनवाई हुई थी. दिल्ली सरकार ने अदालत में कहा कि उसने सारा फंड एमसीडी को दे दिया है. वहीं तीनों एमसीडी का कहना है कि सरकार के ऊपर अब बी 1600 करोड़ रुपये से ज्यादा राशि बकाया है.

8 हजार डॉक्टर हड़ताल पर
करीब 8,000 चिकित्सकों एवं स्थानीय चिकित्सकों, सात अस्पतालों के 10,000 नर्सों एवं अर्ध चिकित्सक कर्मचारियों तथा एडीएमसी और ईडीएमसी के तहत आने वाले पॉलीक्लीनकों एवं औषधालयों के सैकड़ों कर्मचारी 27 जनवरी से हड़ताल पर हैं, जिसके कारण उत्तरी और पूर्वी दिल्ली के हजारों निवासियों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. दो नगर निगमों के विद्यालयों के अध्यापकों की हड़ताल के कारण भी लाखों बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हुयी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें