scorecardresearch
 

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की कालाबाजारी मामले में आरोपी नवनीत कालरा को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार

Navneet Kalra-Oxygen Concentrators Case: दिल्ली पुलिस द्वारा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर कालाबाजारी मामले में गिरफ्तारी की आशंका जताते हुए कालरा ने कोर्ट से अग्रिम जमानत की मांग की थी. याचिका में उसने दावा किया कि उसके खिलाफ कोई मामला नहीं बनता है. लेकिन कोर्ट ने कालरा की याचिका खारिज करते हुए कहा कि आरोपियों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ जरूरी है.

नवनीत कालरा गिरफ्तार (फ़ाइल फ़ोटो) नवनीत कालरा गिरफ्तार (फ़ाइल फ़ोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की कालाबाजारी का केस
  • आरोपी नवनीत कालरा गिरफ्तार
  • दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने किया अरेस्ट

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की कालाबाजारी में फंसे नवनीत कालरा (Navneet Kalra) को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. दिल्ली के मशहूर खान चाचा रेस्टोरेंट के मालिक नवनीत कालरा को क्राइम ब्रांच ने रविवार को गिरफ्तार किया. कालरा ने अग्रिम जमानत के लिए हाईकोर्ट का रुख किया था, लेकिन उसे वहां से राहत नहीं मिली थी. 

बता दें कि दिल्ली पुलिस द्वारा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर कालाबाजारी मामले में गिरफ्तारी की आशंका जताते हुए कालरा ने कोर्ट से अग्रिम जमानत की मांग की थी. याचिका में उसने दावा किया कि उसके खिलाफ कोई मामला नहीं बनता है. लेकिन कोर्ट ने कालरा की याचिका खारिज करते हुए कहा कि आरोपियों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ जरूरी है. जिसके बाद फरार चल रहे नवनीत कालरा को दिल्ली क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया.

क्या है पूरा मामला? 
आपको बता दें कि बीते दिनों ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स की कालाबाजारी को रोकने के लिए दिल्ली पुलिस ने कई नामी-गिरामी रेस्टोरेंट में छापे मारे थे. यहां से सैकड़ों की तादात में कंसंट्रेटर्स बरामद किए गए. इस दौरान खान चाचा रेस्टोरेंट, लोधी कॉलोनी स्थित नेगे जू रेस्टोरेंट में भी छापा मारा गया. इस रेस्टोरेंट का मालिक नवनीत कालरा है. यहां से बड़ी तादाद में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद हुए. नवनीत कालरा को इस सबका मास्टरमाइंड माना गया. 

पुलिस के मुताबिक, लंदन में बैठे मैट्रिक्स सेल्युलर कंपनी के मालिक गगन दुग्गल ने ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स की कालाबाजारी करने का प्लान बनाया और उसके बाद नवनीत कालरा के रेस्टोरेंट में रखकर इन कंसंट्रेटर्स को बेचा जा रहा था. गगन दुग्गल की कंपनी का भारत में सीईओ गौरव खन्ना है. जो इस खेल में शामिल था. 

हालांकि, मामले में गौरव खन्ना को जमानत मिल गई थी लेकिन नवनीत कालरा फरार चल रहा था. उसने हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत की अर्जी दाखिल की, लेकिन राहत नहीं मिली. इस बीच रविवार को पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. 

उधर, बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की कालाबाजारी करने वालों के साथ कांग्रेस की मिलीभगत होने का आरोप लगाया. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस का हाथ कालाबाजारी और जमाखोरी करने वालों के साथ है. इतना ही नहीं, उन्होंने नवनीत कालरा के संबंध कांग्रेस से होने के भी आरोप लगा दिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें