scorecardresearch
 

ऑपरेशन ब्लैक रोज: दिल्ली में आतंकी हमले से निपटने के लिए देर रात को हुई मॉक ड्रिल

मॉक ड्रिल में आतंकियों के मंसूबे को नाकाम करने का अभ्यास किया गया. एनएसजी, स्वात कमांडों के अलावा दिल्ली पुलिस ने आतंकियों को मारने और पीड़ितों को मदद पहुंचाने, उन्हें अस्पताल तक ले जाने का अभ्यास किया.

X
आतंकी घटनाओं से निपटने के लिए किया गया मॉक ड्रिल आतंकी घटनाओं से निपटने के लिए किया गया मॉक ड्रिल

नए साल से पहले राजधानी दिल्ली में कई जगहों पर मॉक ड्रिल की गई. कमांडो और दिल्ली पुलिस ने वसंत कुंज, पालिका बाजार और नेहरु प्लेस मेट्रो स्टेशन के पास आतंकी घटनाओं से निपटने के लिए मॉक ड्रिल की. इसे ऑपरेशन ब्लैक रोज का नाम दिया गया था.

आतंकी घटनाओं से निपटने की तैयारी
मॉक ड्रिल में आतंकियों के मंसूबे को नाकाम करने का अभ्यास किया गया. एनएसजी, स्वात कमांडों के अलावा दिल्ली पुलिस ने आतंकियों को मारने और पीड़ितों को मदद पहुंचाने, उन्हें अस्पताल तक ले जाने का अभ्यास किया. इसके अलावा सभी इमरजेंसी सेवाओं को भी ड्रिल में शामिल किया गया जिसमें फायर बिग्रेड, एंबुलेंस सर्विस शामिल रहीं.


पहले से दी गई जानकारी

मॉक ड्रिल कई मॉल्स और भीड़भाड़ वाले इलाके में की गई है. एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने बताया, 'इन मॉक ड्रिल्स के लिए दिल्ली पुलिस के सारे ज्वाइंट कमिश्नर को पहले ही निर्देश जारी कर दिए गए थे और विशेष पुलिस कमिश्नर के नेतृत्व में ये पूरा ऑपरेशन अंजाम दिया गया.

सीनियर पुलिस अधिकारी ने बताया, 'नए साल की पूर्व संध्या पर किसी भी संभावित खतरे से निपटने के लिए हमारी तैयारियों को जांचने के लिए मॉक ड्रिल का आयोजन किया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें