scorecardresearch
 

दिल्लीः 50 फीसदी सरकारी कर्मचारियों को घर से करना होगा काम, प्रस्ताव पर LG की मुहर

देश की राजधानी में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच दफ्तरों में 50 फीसदी स्टाफ को बुलाने और 50 फीसदी को वर्क फ्रॉम होम के दिल्ली सरकार के प्रस्ताव को उपराज्यपाल अनिल बैजल ने अपनी मंजूरी दे दी है.

कोरोना संकट के बीच दिल्ली में 50 फीसदी स्टाफ के ही ऑफिस आने की अनुमति (फोटो-कुणाल) कोरोना संकट के बीच दिल्ली में 50 फीसदी स्टाफ के ही ऑफिस आने की अनुमति (फोटो-कुणाल)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली में 31 दिसंबर तक यह आदेश लागू रहेगा
  • ग्रेड-1, ऊपरी रैंक के अफसर पर यह लागू नहीं
  • सरकारी ऑफिसों में 50% स्टाफ ही आ सकेगा

दिल्ली में भी अन्य राज्यों की तरह कोरोना वायरस के मामले बढ़ते जा रहे हैं. ऐसे में संक्रमण को फैलने से रोकने की कोशिशें भी जारी हैं. इस बीच दिल्ली सरकार ने औपचारिक आदेश जारी किया है जिसके तहत 50 फीसदी सरकारी कर्मचारी ही ऑफिस आ सकेंगे. दिल्ली के उपराज्यपाल ने भी दिल्ली सरकार के इस प्रस्ताव पर अपनी सहमति दे दी है.

दिल्ली सरकार ने ऑफिसों में स्टाफ की उपस्थिति को लेकर औपचारिक आदेश जारी कर दिया है. ग्रेड-1 और उससे ऊपर रैंक के अधिकारियों को छोड़कर बाकी सभी स्टाफ पर यह आदेश 31 दिसंबर तक लागू रहेगा.

देश की राजधानी में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच ऑफिसों में 50 फीसदी स्टाफ को बुलाने और 50 फीसदी को वर्क फ्रॉम होम के दिल्ली सरकार के प्रस्ताव को उपराज्यपाल अनिल बैजल ने भी अपनी मंजूरी दे दी है.

DDMA की ओर से जारी आदेश

इससे पहले दिल्ली सरकार की दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (डीडीएमए) ने एक ही समय में ऑफिस में भाग लेने वाले सरकारी कर्मचारियों की संख्या को कम करने का फैसला लिया है और यह फैसला लिया गया है कि ग्रेड 1 से नीचे के अधिकारियों समेत 50% स्टाफ ही ऑफिस आ सकेगा. प्राइवेट ऑफिसों को भी ऐसा ही फैसला लेने की सलाह दी गई है.

हालांकि ये आदेश स्वास्थ्य विभाग और उससे जुड़े सभी दफ्तरों, पुलिस, जेल, होमगार्ड, सिविल डिफेंस, फायर और इमरजेंसी सर्विस, जिला प्रशासन, बिजली, पानी, साफ-सफाई, डिजास्टर मैनेजमेंट, म्युनिसिपल सर्विसेज जैसे विभागों पर लागू नहीं होगा.

देखें: आजतक LIVE TV

प्राइवेट दफ्तरों और संस्थाओं को सलाह दी गई है कि वे भी दफ्तर की टाइमिंग और स्टाफ ड्यूटी में कुछ इस तरह से बदलाव करें कि एक ही समय पर दफ्तर अटेंड करने वाले कर्मचारियों की संख्या कम हो. प्राइवेट दफ्तरों और ऑर्गेनाइजेशन को सलाह दी गई है कि जितना संभव हो वर्क फ्रॉम होम (WFH) को अपनाएं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें