scorecardresearch
 

दिल्ली: गफ्फार मार्केट को तीन दिनों में खाली करने का आदेश, IIT रुड़की की ऑडिट पर MCD ने उठाया कदम

पिछले दिनों हुए हादसों के बाद उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने स्ट्रक्चरल ऑडिट करवाया था. आईआईटी रुड़की के स्ट्रक्चरल ऑडिट के आधार पर गफ्फार मार्केट को खाली करने का फैसला लिया गया है. सभी दुकानदारों को दुकान खाली करने के लिए तीन दिनों का वक्त दिया गया है. 

गफ्फार मार्केट को तीन दिनों में खाली करने का आदेश (फाइल फोटो) गफ्फार मार्केट को तीन दिनों में खाली करने का आदेश (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गफ्फार मार्केट को तीन दिनों में खाली करने का आदेश
  • यहां पर बड़े हादसों का है अंदेशा
  • IIT रुड़की ने सौंपी थी स्ट्रक्चरल ऑडिट

उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने करोल बाग स्थित गफ्फार मार्केट को खाली करने का आदेश दिया है. करोल बाग के गफ्फार मार्केट में तकरीबन 75 दुकाने हैं. पिछले दिनों हुए हादसों के बाद उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने स्ट्रक्चरल ऑडिट करवाया था. आईआईटी रुड़की के स्ट्रक्चरल ऑडिट के आधार पर गफ्फार मार्केट को खाली करने का फैसला लिया गया है. सभी दुकानदारों को दुकान खाली करने के लिए तीन दिनों का वक्त दिया गया है. 

इन 75 दुकानों में तकरीबन 15 दुकानें खाली हैं. जबकि 60 दुकानों को खाली करने का नोटिस दिया गया है. आईआईटी रुड़की से आई दो रिपोर्ट में कहा गया था कि गफ्फार मार्केट में कई तरीके की स्ट्रक्चरल कमियां है. जिससे हादसों का अंदेशा बढ़ रहा है. आईआईटी रुड़की ने एमसीडी को आखिरी रिपोर्ट 16 जुलाई को भेजी थी.

और पढ़ें- दिल्ली: करोल बाग स्थित गफ्फार मार्केट में लगी आग, ऐसे पाया काबू

उत्तरी दिल्ली नगर निगम के डिप्टी कमिश्नर हिमांशु गुप्ता ने आजतक को बताया कि सभी कारोबारियों को व्यक्तिगत तौर पर नोटिस भेज दिए गए हैं ताकि वह समय रहते दुकान खाली कर दें.

फिलहाल किसी वैकल्पिक व्यवस्था को एमसीडी ने सिरे नहीं चढ़ाया है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें