scorecardresearch
 

दिल्ली हिंसा: पुलिस के रडार पर ताहिर हुसैन के 4 मददगार, होगी पूछताछ

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच का कहना है कि मुस्तफाबाद में चार लोगों ने ताहिर हुसैन की मदद की थी. जब गिरफ्तारी के लिए छापेमारी होने लगी तो वो मुस्तफाबाद से निकल गया और जाकिर नगर में अपने किसी जानकर के यहां रहा.

दिल्ली हिंसा के मामले में ताहिर हुसैन को कोर्ट ने पुलिस रिमांड में भेजा है (फोटो-PTI) दिल्ली हिंसा के मामले में ताहिर हुसैन को कोर्ट ने पुलिस रिमांड में भेजा है (फोटो-PTI)

  • क्राइम ब्रांच की राडार पर हैं ताहिर के 4 मददगार
  • मददगारों को पूछताछ के लिए बुलाएगी पुलिस
दिल्ली हिंसा के मामले में ताहिर हुसैन को शुक्रवार को कड़कड़डूमा कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया. इस बीच, दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच का कहना है कि मुस्तफाबाद में चार लोगों ने ताहिर हुसैन की मदद की थी.

सूत्रों ने शनिवार को बताया कि जब गिरफ्तारी के लिए छापेमारी होने लगी तो वो मुस्तफाबाद से निकल गया और जाकिर नगर में अपने किसी जानकर के यहां रहा. क्राइम ब्रांच की राडार पर अब ये चारों लोग हैं जिन्होंने ताहिर हुसैन की मदद की थी. सूत्रों की मानें तो इन चारों लोगों को जल्द ही पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा.

मुस्लिम युवक ने सिख पगड़ी पहन की शादी, सामने आया VIDEO

ताहिर हुसैन के कॉल रिकॉर्ड में पता चला कि वह 24 से 27 फरवरी तक मुस्तफाबाद के पास ही था. चांद बाग भी मुस्तफाबाद में पड़ता है. ताहिर का दावा है कि हिंसा के दौरान और बाद में वो अपनी बिल्डिंग या बिल्डिंग के आस-पास की गलियों और इलाकों में रहा. 27 फरवरी के बाद उसकी लोकेशन दिल्ली के जाकिर नगर में मिली थी, उसके बाद उसका फोन बंद हो गया था.

दिल्ली हिंसा के पीड़ितों पर कुदरत का कहर, राहत कैंपों में भरा बारिश का पानी

क्राइम ब्रांच को अब भी ताहिर के मोबाइल फोन की तलाश है. ताहिर का मोबाइल फोन बरामद नहीं हुआ है. ताहिर हुसैन पर नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में 24 फरवरी को हुई हिंसा के दौरान आईबी कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या का आरोप है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें