scorecardresearch
 

पॉश कॉलोनियों तक पहुंची सीलिंग की आंच, अवैध स्लॉटर हाउस भी किया बंद

संपत्तियों में स्टिल्ट पार्किंग का इस्तेमाल अन्य व्यवसायिक गतिविधियों के लिए किया जा रहा था जिसमें कोटक महिंद्रा बैंक, HDFC बैंक और स्टैंर्डड चार्टेड बैंक भी काम कर रहे थे.

सीलिंग की कार्रवाई हुई तेज सीलिंग की कार्रवाई हुई तेज

दिल्ली में सीलिंग की आंच लोकल शॉपिंग कॉम्पलेक्स तक सीमित थी लेकिन अब पॉश कॉलोनियों में भी एमसीडी का हथौड़ा चलना शुरू हो गया है. इसके अलावा अब अवैध स्लॉटर हाउस भी रडार पर आ गए हैं. गुरुवार शाम तक दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में कुल 148 संपत्तियां सील की गई हैं. इसके अलावा पूर्वी दिल्ली में अवैध रूप से चल रहे एक स्लॉटर हाउस को भी एमसीडी ने सील किया है.

साउथ एमसीडी के तहत आने वाले वेस्ट जोन, साउथ ज़ोन और सेंट्रल ज़ोन में कुल 69 संपत्तियों को सील किया गया. साउथ ज़ोन के ग्रीन पार्क मेन मार्केट में 20 संपत्तिय़ों को सील किया गया. इन संपत्तियों में स्टिल्ट पार्किंग का इस्तेमाल अन्य व्यवसायिक गतिविधियों के लिए किया जा रहा था जिसमें कोटक महिंद्रा बैंक, HDFC बैंक और स्टैंर्डड चार्टेड बैंक भी काम कर रहे थे.

वेस्ट ज़ोन के राजौरी गार्डन और प्रताप नगर में 20 संपत्तियों को सील किया गया तो वहीं सेंट्रल ज़ोन के साउथ एक्सटेंशन पार्ट-1 के डी-ब्लॉक में बेसमेंट और ऊपर की मंज़िलों पर संपत्तियों के गलत इस्तेमाल के कारण 29 संपत्तियों को सील किया गया.

पूर्वी दिल्ली में जागृति एनक्लेव, सैनी एनक्लेव, पुष्पांजली एनक्लेव जैसी पॉश कॉलोनियों में रेस्टोरेंट, शोरूम, गोडाउन मिलाकर 10 संपत्तियां सील की गई वहीं स्टिल्ट पार्किंग की जगह व्यवसायिक गतिविधियां पाए जाने पर 11 जगहों पर सीलिंग की गई. इसके अलावा उत्तरी दिल्ली के शास्त्री नगर, विवेकानंदपुरी, चांदनी चौक, वेस्ट पंजाबी बाग, राजेंद्र नगर, रोहिणी सेक्टर 8, पीतमपुरा, मॉडल टाउन, मुखर्जी नगर, सब्जी मंडी, मजलिस पार्क में कुल 58 संपत्तियों को सील किया गया है.

निशाने पर अवैध स्लॉटर हाउस

सीलिंग अभियान के दौरान अब एमसीडी के निशाने पर अवैध रूप से चल रहे स्लॉटर हाउस भी आ गए हैं. पूर्वी दिल्ली नगर निगम के वेटनरी सर्विस विभाग ने ब्रह्मपुरी में चल रहे अवैध स्लॉटर हाउस पर छापा मारकर 26 भैंसों को छुड़ाया है. इसके अलावा 12 हज़ार रुपए का चालान करने के साथ ही अवैध कत्लखाना चलाने वाले शख्स के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें