scorecardresearch
 

अमित शाह के आवास के बाहर क्यों नहीं प्रदर्शन की अनुमति, दिल्ली पुलिस ने HC को बताया

आम आदमी पार्टी के नेता राघव चड्ढा और आतिशी की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने पिछले महीने दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया था. राघव चड्ढा और आतिशी ने उपराज्यपाल अनिल बैजल और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के आवास के बाहर विरोध प्रदर्शन नहीं करने देने के मामले में हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था.

दिल्ली हाईकोर्ट दिल्ली हाईकोर्ट
स्टोरी हाइलाइट्स
  • AAP विधायकों ने दायर कर रखी है याचिका
  • दिल्ली में इस समय लागू हैं DDMA के नियम
  • प्रदर्शन की अनुमति नहीं मिलने पर HC में गुहार

दिल्ली पुलिस ने दिल्ली हाईकोर्ट को बताया कि आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायकों राघव चड्ढा और आतिशी को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और उपराज्यपाल अनिल बैजल के आवासों के बाहर विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जा सकती है क्योंकि राजधानी में डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (DDMA) के नियम लागू होने की वजह से किसी भी राजनीतिक सभा/गतिविधियों को अनुमति नहीं दी जा सकती है.

क्रिमिनल प्रोसिजर कोड (CrPC) की धारा 144 पूरे सेंट्रल दिल्ली में लगाई गई है, जहां ये दोनों आवास स्थित हैं, अनुमति देने से इनकार करने के कारणों में से एक कारण के रूप में उद्धृत किया गया है.

आम आदमी पार्टी के नेता राघव चड्ढा और आतिशी की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने पिछले महीने दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया था. राघव चड्ढा और आतिशी ने उपराज्यपाल अनिल बैजल और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के आवास के बाहर विरोध प्रदर्शन नहीं करने देने के मामले में हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. इसी संबंध में अब कोर्ट में सुनवाई हो रही है.

दिल्ली हाईकोर्ट के जस्टिस नवीन चावला आम आदमी पार्टी के विधायकों राघव चड्ढा और आतिशी की उन याचिकाओं पर सुनवाई कर रहे थे, जिनमें दिल्ली पुलिस के फैसले को चुनौती दी गई है. दिल्ली पुलिस ने AAP के इन नेताओं को गृह मंत्री अमित शाह और उपराज्यपाल अनिल बैजल के घर के बाहर प्रदर्शन की अनुमति देने से इनकार कर दिया था.

देखें: आजतक LIVE TV

कृषि कानून बिल के बढ़ते विवाद के बीच आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता राघव चड्ढा ने बयान जारी कर कहा कि किसान विरोधी कानूनों को वापस लेने की शक्ति केंद्र की मोदी सरकार के पास है, कोई पैनल इसे वापस नहीं करा सकता है. केंद्र सरकार इन तीनों कानूनों को तत्काल वापस लें. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें