scorecardresearch
 

जामिया हिंसा केसः यूनिवर्सिटी में घंटेभर रही SIT टीम, कराई वीडियोग्राफी

जामिया मिलिया इस्लामिया में हिंसा जुड़े वीडियो को लेकर पुलिस और छात्रों में जारी खींचतान के बीच दिल्ली पुलिस की SIT टीम ने आज मंगलवार को घटनास्थल का मुआयना किया. SIT टीम के प्रमुख डीसीपी राजेश देव भी टीम के साथ गए थे.

जामिया में घटनास्थल का निरीक्षण करती SIT टीम जामिया में घटनास्थल का निरीक्षण करती SIT टीम

  • जामिया मिलिया इस्लामिया पहुंची SIT
  • SIT प्रमुख डीसीपी राजेश देव मौके पर
  • घटनास्थल की वीडियोग्राफी कराई गई

जामिया मिलिया इस्लामिया में हिंसा जुड़े वीडियो को लेकर पुलिस और छात्रों में जारी खींचतान के बीच दिल्ली पुलिस की SIT टीम आज मंगलवार को जामिया पहुंची. करीब एक घंटे तक जामिया में घटनास्थल का मुआयना करने के बाद क्राइम ब्रांच की एसआईटी टीम यूनिवर्सिटी से निकल गई.

क्राइम ब्रांच की टीम जामिया की उस लाइब्रेरी में भी गई जहां हिंसा के बाद पुलिस ने घुसकर छात्रों की पिटाई की थी. यूनिवर्सिटी में कहां-कहां सीसीटीवी लगे हैं इसकी भी जानकारी ली और टीम वहां गई भी. इन सभी चीजों की वीडियोग्राफी भी कराई गई.

पुलिस के खिलाफ शिकायत

इस बीच जामिया मिलिया इस्लामिया के पूर्व छात्रों के संगठन ने दिल्ली पुलिस के कर्मचारियों के खिलाफ जामिया नगर पुलिस स्टेशन में हाल में 15 दिसंबर 2019 को हुई हिंसा पर जारी किए गए नए फुटेज के आधार पर शिकायत दर्ज कराई गई है.

वीडियोग्राफी के लिए गए 2 लोगSIT प्रमुख डीसीपी राजेश देव और एसीपी (सहायक पुलिस आयुक्त) संदीप लांबा समेत अन्य कई अधिकारी भी मौके पर मौजूद रहे. क्राइम ब्रांच की टीम के साथ वीडियोग्राफी करने के लिए 2 लोग भी साथ गए थे.

जाहिर है दिल्ली पुलिस ने इस मामले की जांच-पड़ताल के लिए विशेष जांच टीम (SIT) का गठन किया है. दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त पी रंजन ने सोमवार को बताया कि जामिया में 15 दिसंबर को हुई हिंसा मामले में कई वीडियो सामने आए हैं. मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है. हम घटनाक्रमों को जोड़कर देख रहे हैं.

वीडियो में जामिया लाइब्रेरी में जो भीड़ दिख रही है उसमें छात्र के साथ बाहरी लोग भी शामिल हैं, जांच जारी है.

हमने वीडियो जारी नहीं कियाः जामिया प्रशासन

सोशल मीडिया में वायरल वीडियो पर जामिया मिलिया इस्लामिया प्रशासन ने रविवार को साफ किया कि 15 दिसंबर की रात की घटना का सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो जामिया प्रशासन की ओर से जारी नहीं किया गया है. इस पूरे मामले से जामिया प्रशासन ने खुद को अलग कर लिया है.

और पढ़ें- जामिया हिंसा पर दिल्ली पुलिस की चार्जशीट, शरजील का नाम शामिल, कारतूस का भी जिक्र

वीडियो में पुलिसकर्मियों को जामिया मिलिया इस्लामिया के पुस्तकालय में कथित रूप से जबरन घुसते हुए देखा जा सकता है. इससे पहले जामिया में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) विरोधी प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों ने आगजनी और पत्थरबाजी की थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें