scorecardresearch
 

दिल्ली मेट्रो किराए में बढ़ोतरी को केजरीवाल ने बताया जनविरोधी, मंगू सिंह को बुलाया

दिल्ली सरकार ने दिल्ली मेट्रो प्रमुख मंगू सिंह को इस मामले में बातचीत के लिए बुलाया है. बता दें कि दिल्ली मेट्रो की योजना के मुताबिक 3 अक्टूबर से बढ़ा हुआ किराया लागू होना है.

X
दिल्ली CM अरविंद केजरीवाल दिल्ली CM अरविंद केजरीवाल

मेट्रो के किराए में बढ़ोत्तरी पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नाखुशी जताई है. गुरुवार सुबह केजरीवाल ने ट्वीट कर मेट्रो किराए में बढ़ोतरी को जनविरोधी बताया है. दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ट्रांसपोर्ट मंत्री कैलाश गहलोत को आदेश दिए हैं कि एक हफ्ते में किराया बढ़ोतरी को रोकने के उपाय निकालें. साथ ही एक महीने के भीतर रिपोर्ट सौंपने को कहा है. गहलोत का यह भी कहना है कि हाल ही में दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ने के बाद राइडर-शिप में गिरावट दर्ज की गई है. सरकार यात्रियों की कम होती संख्या की भी समीक्षा करेगी.

दिल्ली सरकार ने दिल्ली मेट्रो प्रमुख मंगू सिंह को इस मामले में बातचीत के लिए बुलाया है. बता दें कि दिल्ली मेट्रो की योजना के मुताबिक 3 अक्टूबर से बढ़ा हुआ किराया लागू होना है. अगर बढ़ोतरी की बात करें तो इसी साल मई के मुकाबले अक्टूबर में मेट्रो का अधिकतम किराया दो गुना हो जाएगा. हालांकि डीएमआरसी का कहना है कि किराया बढ़ाने का फैसला नया नहीं है और यह मई में ही तय कर लिया गया था कि एक अक्टूबर से नया किराया लागू होगा.

मेट्रो का बढ़ा हुआ किराया अक्टूबर की शुरुआत से ही लागू होना था लेकिन 1 और 2 अक्टूबर की छुट्टी के दिन मेट्रो में रियायती किराया लगता है. इस वजह से 3 अक्टूबर से नया किराया लागू होगा. बढ़े हुए किराये का पहला फेज़ लागू होने से पहले मेट्रो का न्यूनतम किराया 8 रुपए होता था, जो अब दस रुपए होगा. जबकि अधिकतम किराया 30 रुपए होता था, जो मई में 50 रुपए किया गया और अब 3 अक्टूबर के बाद 60 रुपए हो जाएगा.

चार महीने में मेट्रो के  किराए में 100 फीसदी बढ़ोत्तरी

पिछले चार महीने के भीतर ही मेट्रो का किराया सौ फीसदी बढ़ जाएगा. यही नहीं, अब 5 से 12 किलोमीटर की दूरी के लिए अभी 15 रुपए किराया लगता है, जो 3 अक्टूबर से 20 रुपए हो जाएगा. जबकि इतनी ही दूरी के लिए मई के पहले मेट्रो का किराया महज़ 12 रुपए था. 12 से 21 किलोमीटर की दूरी के लिए अब तक मेट्रो में 30 रुपए लगता है, जो अब 40 रुपए हो जाएगा. जबकि इसी दूरी के लिए मई के पहले अधिकतम 21 रुपए किराया होता था.

मेट्रो से 21 से 32 किलोमीटर तक मेट्रो में सफर के लिए अभी 40 रुपए किराया चुकाना पड़ता है, लेकिन अक्टूबर से ये 50 रुपए हो जाएगा. जबकि मई के पहले इतनी ही दूरी के लिए किराया 25 रुपए हुआ करता था. अभी आप अगर 32 किलोमीटर से ज्यादा सफर करते हैं तो आपको 50 रुपए किराये के तौर पर चुकाने होते हैं, लेकिन अक्टूबर से यही किराया 60 रुपए हो जाएगा, जबकि मई से पहले 30 रुपए ही हुआ करता था.

कम दूरी तक सफर करने वालों पर भी किराया बढ़ोत्तरी की मार

दिल्ली मेट्रो ने किराये के स्लैब कम कर दिए है, इससे भी कम दूरी तक सफर करने वालों पर भी किराया बढ़ोत्तरी की ज्यादा मार पड़ेगी, जबकि अधिकतम किराया दोगुना हो ही गया है. हालांकि डीएमआरसी के मुताबिक छुट्टी वाले दिनों में मेट्रो में लोग रियायती दरों पर सफर कर सकते हैं. छुट्टी वाले दिन मेट्रो का न्यूनतम किराया तो 10 रुपए ही होगा, जबकि अधिकतम किराया 50 रुपए वसूला जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें