scorecardresearch
 

दिल्ली की अदालतों में होगी सिर्फ जरूरी मामलों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई, HC का आदेश

दिल्ली हाईकोर्ट ने एक सर्कुलर जारी करके सभी जिला अदालतों को निर्देश दिए हैं कि उन्हीं मामलों की सुनवाई वर्चुअल मोड में की जाए जो जरूरी या बेहद जरूरी हों.

दिल्ली हाईकोर्ट (फाइल फोटो) दिल्ली हाईकोर्ट (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हाईकोर्ट और जिला अदालतों में बंद है फिजिकल हियरिंग
  • कोर्ट में वर्चुअल मोड हो रही जरूरी मामलों की सुनवाई

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बढ़ते कोरोना केसेज को देखते हुए अब सिर्फ उन्हीं मामलों की सुनवाई होगी, जो बेहद जरूरी होंगे. दिल्ली हाईकोर्ट ने एक सर्कुलर जारी करके सभी जिला अदालतों को निर्देश दिए हैं कि उन्हीं मामलों की सुनवाई वर्चुअल मोड में की जाए जो जरूरी या बेहद जरूरी हों. इससे पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने कल भी एक सर्कुलर जारी किया था जिसमें हाईकोर्ट के लिए भी उन्हीं मामलों पर सुनवाई के निर्देश थे जो जरूरी हों.

हाईकोर्ट की तरफ से दिशा-निर्देश फिलहाल दिल्ली की वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए दिए गए हैं. दिल्ली में हाईकोर्ट समेत निचली अदालतों में कई जज कोरोना से संक्रमित हैं. हाईकोर्ट में 23 अप्रैल तक के लिए फिजिकल कोर्ट पूरी तरह से बंद है और वर्चुअल माध्यम से ही मामलों की सुनवाई हो रही है. हालांकि दिल्ली में जिस रफ्तार से हर दिन कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, लग रहा है कि अदालतों का काम अभी आगे भी वर्चुअल मोड में ही संभव हो पाएगा. न सिर्फ हाईकोर्ट बल्कि जिला अदालतों में भी फिलहाल वर्चुअल मोड में ही सुनवाई हो रही है.

वकीलों में भी बढ़े कोरोना के केस

दिल्ली के वकीलों में भी कोरोना पॉजिटिव मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. इसके चलते दिल्ली बार काउंसिल के तमाम दफ्तर राजधानी में बंद कर दिए गए हैं. इसके अलावा दिल्ली हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने भी अपना दफ्तर बंद कर रखा है. दिल्ली में पिछले साल मार्च में हुए लॉकडाउन के बाद से ही हाईकोर्ट में सभी कोर्ट रूम में नियमित सुनवाई शुरू नहीं हो पाई थी लेकिन सुधरते हालात देख पिछले महीने 15 मार्च से ही हाईकोर्ट की सभी बेंच ने फिजिकल मोड में काम करना शुरू किया था.

दिल्ली हाईकोर्ट के सभी कोर्ट रूम में फिजिकल मोड में सुनवाई शुरू हुए अभी दो-तीन हफ्ते ही हुए थे कि कोर्ट ने वर्चुअल मोड में काम करने का आदेश जारी कर दिया. दिल्ली में कोरोना के कारण बिगड़ते हालात देख हाईकोर्ट ने 9 अप्रैल से ही सभी जिला अदालतों में भी फिजिकल हियरिंग बंद करा दी थी. तभी से सभी मामलों की सुनवाई वर्चुअल मोड में ही हो रही है लेकिन जज और वकील लगातार कोरोना की चपेट में आ रहे हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×