scorecardresearch
 

Delhi: दिसंबर में Omicron से ज्यादा हावी रहा Delta वैरिएंट, हैरान करने वाले आंकड़े आए सामने

दिल्ली में कोरोना के आंकड़ों ने सरकार की चिंता बढ़ा रखी है. इसी बीच राजधानी में कोरोना को लेकर हैरान करने वाले आंकड़े भी सामने आए हैं, जिसके मुताबिक बीते साल दिसंबर में डेल्टा वैरिएंट सबसे ज्यादा हावी रहा है,

X
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली में कोरोना के मामलों में फिलहाल राहत नहीं
  • Omicron से ज्यादा डेल्टा वैरिएंट के आंकड़ों ने चौंकाया

दिल्ली में ओमिक्रॉन वैरिएंट की दस्तक के बाद कोरोना के मामलों ने रिकॉर्ड तोड़ दिया है. इस बीच ओमिक्रॉन वैरिएंट की पहचान करने के लिए जीनोम सिक्वेंसिंग का सहारा लिया गया. साल 2021 के अंत में 1 दिसंबर से 31 दिसंबर के बीच जिन मरीज़ों के सैम्पल की जीनोम सिक्वेंसिंग की गई, उनमें ओमिक्रॉन से ज्यादा डेल्टा वैरिएंट पाया गया है. 

बता दें कि पिछले 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना के 7498 नए मामले सामने आए हैं और 29 लोगों की मौत हो गई है. वहीं, बुधवार को दिल्ली में कोरोना के 5760 केस दर्ज किए गए थे और 30 लोगों ने दम तोड़ दिया था.

दिल्ली सरकार के आंकड़ों के मुताबिक, 1 दिसंबर 2021 से 31 दिसंबर 2021 के बीच 1553 सैम्पल की जीनोम सिक्वेंसिंग की गई थी. इनमें से 430 सैम्पल में ओमिक्रॉन  वैरिएंट पाया गया, जबकि 533 सैम्पल में डेल्टा वैरिएंट की पहचान हुई. आंकड़ों के मुताबिक सभी सैम्पल में से सबसे अधिक 34% सैम्पल में डेल्टा वैरिएंट पाया गया, जबकि 28% सैम्पल में ओमिक्रॉन वैरिएंट मिला. 

हालांकि दिसंबर 2021 के अंतिम हफ्ते में मरीजों के सैम्पल की सबसे ज्यादा जीनोम सिक्वेंसिंग की गई. 25 दिसंबर से 31 दिसंबर के बीच 563 सैम्पल को जीनोम सिक्वेंसिंग लैब में भेजा गया. इनमें से 347 सैम्पल में कोरोना का ओमिक्रॉन वैरिएंट पाया गया, जबकि 126 सैम्पल डेल्टा वैरिएंट के पाए गए. आंकड़ों का आंकलन करें तो दिसंबर 2021 के अंतिम 7 दिनों में 62% लोगों में ओमिक्रॉन पाया गया, तो वहीं 22% लोगों में डेल्टा वैरिएंट की पहचान हुई. 

आंकड़ों से नज़र आता है कि जनवरी की शुरुआत में डेल्टा की बजाय ओमिक्रॉन वैरिएंट दिल्ली में हावी होने लगा. सरकार के आंकड़ों के मुताबिक 1 जनवरी 2022 से 3 जनवरी 2022 तक लैब में 72 सैम्पल की जीनोम सिक्वेंसिंग की गई. इनमें से 47 सैम्पल (65%) में ओमिक्रॉन वैरिएंट की पहचान हुई, जबकि 20 (28%) सैम्पल में डेल्टा वैरियंट पाया गया. 

आपको बता दें कि हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक दिल्ली में साल 2021 में 1 दिसंबर से 31 दिसंबर तक कोरोना के 9737 मामले दर्ज हुए थे और 10 मौत दर्ज हुई थीं. फिर, नए साल में कोरोना ने रफ़्तार पकड़ी और 13 जनवरी को दिल्ली में पिछली तमाम लहर का रिकॉर्ड तोड़ते हुए एक दिन में अबतक के सबसे अधिक 28 हजार 867 मामले दर्ज हुए थे.
 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें