scorecardresearch
 

CM अरविंद केजरीवाल ने केंद्र को बताया कोरोना वैक्सीन का उत्पादन बढ़ाने का फॉर्मूला

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में वैक्सीन की कमी है, कुछ दिन की वैक्सीन दिल्ली में बाकी है, कई राज्यों में वैक्सीन न होने की वजह वैक्सीनेशन शुरू नहीं हुआ, देश के हर व्यक्ति को वैक्सीन लगाने में 2 साल लग जायेगा.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल
स्टोरी हाइलाइट्स
  • केजरीवाल बोले- दिल्ली में वैक्सीन की कमी
  • केंद्र से वैक्सीन उत्पादन बढ़ाने की मांग की

देश में कोरोना वैक्सीन की कमी को दूर करने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक नया फॉर्मूला दिया है. उनका कहना है कि अभी देश में दो कंपनियां ही वैक्सीन बना रही हैं, ऐसे में इनसे वैक्सीन का फॉर्मूला लेकर उन कंपनियों को देना चाहिए, जो वैक्सीन बनाना चाहती हैं, इससे वैक्सीन का उत्पादन और बढ़ जाएगा.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में वैक्सीन की कमी है, कुछ दिन की वैक्सीन दिल्ली में बाकी है, कई राज्यों में वैक्सीन न होने की वजह वैक्सीनेशन शुरू नहीं हुआ, देश के हर व्यक्ति को वैक्सीन लगाने में 2 साल लग जाएंगे, भारत में वैक्सीन का उत्पादन बढ़ाना होगा, वैक्सीन बनाने का काम 2 कंपनी ही न करें.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वैक्सीन बनाने का फॉर्मूला अन्य कंपनियों को दिया जाए, भारत में हर उस प्लांट में वैक्सीन का उत्पादन हो, जहां वैक्सीन बनाई जा सकती है, अगली कोरोना के लहर से पहले सुरक्षा कवच देना होगा. उन्होंने कहा कि आपके सहयोग से लॉकडाउन सफल रहा, दिल्ली में कोरोना के केस कम हो रहे हैं.

ये भी पढ़ें: कोरोनाः खतरे में इंसानियत लेकिन खत्म नहीं हो रही लोगों की जाहिलियत

हर दिन लगा रहे सवा लाख डोज

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार के स्कूलों में टीकाकरण हो रहा है, लोग बहुत खुश हैं और अच्छे से टीका लगवा रहे हैं, मैं अपने स्कूल स्टाफ और फ्रंटलाइन वर्कर का धन्यवाद करना चाहता हूं, जो टीकाकरण में लगे हुए हैं, अभी हम सवा लाख डोज़ रोज़ लगा रहे हैं, इसको 3 लाख रोज़ाना करने का लक्ष्य है, लेकिन बड़ी समस्या वैक्सीन की कमी है.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारे पास कुछ ही दिन की वैक्सीन बची है और यह समस्या देशव्यापी है, कुछ राज्य तो ऐसे हैं जहां वैक्सीन न होने के कारण टीकाकरण शुरू भी नहीं हो पाया, टीका बनाने वाली केवल दो कंपनियां हैं, जो महीने में 6-7 करोड़ वैक्सीन बनाती, अब जरूरी है कि भारत में वैक्सीन उत्पादन युद्ध स्तर पर बढ़ाएं.

केंद्र को सुझाव देते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वैक्सीन बनाने का काम केवल दो कंपनियां ना करें, कई कंपनियों को वैक्सीन बनाने के काम में लगाया जाए, केंद्र सरकार इन दो कंपनियों से फार्मूला ले और दूसरी कंपनियों को दे जो वैक्सीन बनाना चाहती हैं, यही एक तरीका है जिसके जरिए हम जल्द से जल्द सभी भारतीयों को टीका लगा पाएंगे.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जब कोरोना आया था, उस समय PPE किट की कितने किल्लत थी, अगर उस समय कुछ ही कंपनियां यह बनाती तो आज भी कितनी किल्लत होती, लेकिन आज PPE की किल्लत नहीं है, वैक्सीन उत्पादन करने वाली कंपनियों के उत्पादन का एक अंश मूल कंपनियों को रॉयल्टी के तरह दे सकते हैं, जिससे उनको नुकसान ना हो.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें