scorecardresearch
 

कैब रेप केस: सामने आई आरोपी की पहली तस्वीर, 11 दिसंबर तक पुलिस हिरासत में

दिल्ली के इंद्रलोक इलाके में एक कंपनी की एग्जीक्यूटिव से कैब में रेप के आरोपी को 11 दिसंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है. दिल्ली सरकार ने उबर टैक्सी सेवा पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है. इसी कंपनी की कैब में युवती के साथ रेप की घटना हुई थी. आरोपी के पड़ोसियों का कहना है कि शिवकुमार जब गांव जाता था तो महिलाएं डर से रात को बाहर नहीं निकलती थी. आरोपी की मां ने कहा है कि अगर वो गुनहगार है तो उसे कड़ी सजा दी जाए.

X
symbolic image symbolic image

दिल्ली के इंद्रलोक इलाके में एक कंपनी की एग्जीक्यूटिव से कैब में रेप के आरोपी को 11 दिसंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है. दिल्ली सरकार ने उबर टैक्सी सेवा पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है. इसी कंपनी की कैब में युवती के साथ रेप की घटना हुई थी. आरोपी के पड़ोसियों का कहना है कि शिवकुमार जब गांव जाता था तो महिलाएं डर से रात को बाहर नहीं निकलती थी. आरोपी की मां ने कहा है कि अगर वो गुनहगार है तो उसे कड़ी सजा दी जाए.

यह मामला सियासी रंग भी लेने लगा है. सोमवार सुब‍ह आम आदमी पार्टी और NSUI ने मामले को लेकर गृह मंत्री राजनाथ सिंह के घर के बाहर प्रदर्शन किया. लोकसभा में गृह मंत्री ने बयान देते हुए कहा कि पुलिस ने मामले में केस दर्ज कर फौरन कार्रवाई की, वहीं विपक्ष ने जमकर हंगामा किया. (फोटो: पुलिस हिरासत में रेप का आरोपी श‍िव कुमार यादव)

दूसरी ओर, आरोपी कैब ड्राइवर शिव कुमार यादव ने पुलिस की पूछताछ में जो कुछ कहा वह हैरान करने वाला है. आरोपी ने कहा कि वह इससे पहले भी रेप कर चुका है! जबकि मामले में सबूतों के अभाव में उसे रिहा कर दिया गया है. रेप के आरोपी कैब ड्राइवर शि‍व कुमार यादव को पुलिस ने मथुरा से हिरासत में लिया था. उसके साथ कुछ अन्य लोगों को भी हिरासत में लिया गया है. पुलिस सभी से पूछताछ कर रही है. इससे पहले पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल की गई कार को भी बरामद कर लिया था.

महिला सुरक्षा पर विपक्ष के सख्त तेवर
रेप की घटना को लेकर AAP नेताओं ने रविवार को ही महिलाओं की सुरक्षा का मुद्दा उठाया था. पार्टी नेता राखी बिडलान ने कहा था कि दिल्ली में हाई अलर्ट के बावजूद रेप हो जाता है, वहीं सोमवार सुबह इस बाबत पार्टी कार्यकर्ताओं ने राजनाथ सिंह के घर के बाहर प्रदर्शन किया. आम आदमी पार्टी के ठीक बाद NSUI ने भी गृह मंत्री के आवास के बाहर प्रदर्शन किया. दिन चढ़ते ही विपक्ष की मांग पर राजनाथ सिंह ने लोकसभा में रेप मामले में बयान दिया. गृह मंत्री ने कहा, 'पुलिस ने मामले में केस दर्ज कर फौन कार्रवाई की. एनजीओ ने लड़की की काउंसलिंग की और सख्त धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया.' हालांकि सरकार की ओर से इस बयान के बाद भी विपक्ष के तेवर ठंडे नहीं पड़े. विपक्ष ने जमकर हंगामा किया.

आरोपी ने कहा, पहले भी कर चुका हूं रेप
दूसरी ओर, पुलिस अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार ड्राइवर शिव कुमार यादव ने पूछताछ में कहा कि वह इससे पहले भी रेप कर चुका है. 2011 में दिल्ली के महरौली इलाके में उसने रेप की एक घटना को अंजाम दिया था. मामले में उसे गिरफ्तार भी किया गया, लेकिन बाद में पर्याप्त सबूत नहीं मिलने के कारण उसे बरी कर दिया गया था.

टैक्सी कंपनी की क्या है गलतियां
वारदात में इस्तेमाल की गई उबर कैब की कार में ना तो जीपीएस लगा था और ना ही कैब ड्राइवर का पुलिस वेरिफिकेशन ही कराया गया था. दिल्ली पुलिस के मुताबिक, आरोपी कैब ड्राइवर शिव कुमार यादव के पास कोई बैज भी नहीं था. इसके अलावा कैब कंपनी की कुछ और लापरवाहियां भी सामने आईं हैं. पुलिस ने मामले में सोमवार को कंपनी के अधि‍कारियों से पूछताछ की. जबकि दिल्ली सरकार ने तत्काल प्रभाव से प्रदेश में कंपनी की कैब सर्विस पर रोक लगा दी.

क्या है मामला
बीते शुक्रवार 5 दिसंबर की रात पीड़ित लड़की ने दिल्ली के वसंत विहार से कैब को हायर किया था, लेकिन घर पहुंचने से पहले ही उसे कार में नींद आ गई. इसी बात का फायदा उठाते हुए कैब ड्राइवर ने गाड़ी को सुनसान रास्ते की ओर मोड़ लिया और वहीं रेप की वारदात को अंजाम दिया.

दूसरी ओर, तमाम लापरवाही के बाद भी कैब कंपनी उबर ने सफाई दी है कि कंपनी सुरक्षा को पूरी प्राथमिकता दी है. ड्राइवर को सस्पेंड कर दिया गया है और पुलिस जांच में पूरी मदद की जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें