scorecardresearch
 

बंद विफल होने से बीजेपी गदगद, सतीश उपाध्याय बोले जनता का केजरीवाल से उठा भरोसा

सतीश उपाध्याय ने कहा कि नोटबंदी का विरोध करके केजरीवाल ने बता दिया है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ उनकी लडा़ई महज दिखावा थी और वो भ्रष्टाचार को खत्म करने के नहीं बल्कि कालेधन को जमा करने वालों के समर्थन में खड़े हैं.

सतीश उपाध्याय ने मांगा केजरीवाल का इस्तीफा सतीश उपाध्याय ने मांगा केजरीवाल का इस्तीफा

विपक्ष के भारत बंद के बेअसर रहने से बीजेपी के नेता उत्साहित हैं. पार्टी के नेता इसे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की हार बताने में जुट गए हैं और केजरीवाल के इस्तीफे की मांग करने लगे हैं. बीजेपी पिछले कुछ दिन से लगातार इस तैयारी में लगी थी कि कैसे विपक्ष के भारत बंद के आहवान की हवा निकाली जाए.

रविवार को पीएम मोदी के कुशीनगर के भाषण के बाद तो बीजेपी पूरे उत्साह के साथ भारत बंद को बेअसर करने में जुट गई थी. पीएम मोदी ने कुशीनगर में जनता से सवाल किया था कि देश में काला धन बंद होना चाहिए या फिर भारत बंद. इस सवाल ने पार्टी के कार्यकर्ताओं को इशारा दे दिया और दुकानें खोलने के लिए दुकानदारों को तैयार करने में जुट गए.

दुकानें खुली रखने की करी अपील

सोमवार को सुबह से ही बंद समर्थकों के पहले ही बीजेपी के कार्यकर्ता सड़कों पर उतर आए और लोगों से दुकानें खुली रखने की अपील की. दोपहर तक जब दिल्ली के ज्यादातर बाजार खुले होने की खबर आई, तो उत्साहित बीजेपी ने इसे जोर शोर से प्रचारित करना शुरु कर दिया.

दोपहर में एक प्रेस कान्फ्रेंस करके दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से इस्तीफे की मांग कर डाली. सतीश उपाध्याय ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने कालेधन का समर्थन किया है, जबकि लोग कालेधन के विरोध में नोटबंदी का समर्थन कर रहे हैं. इसीलिए दिल्ली की जनता ने केजरीवाल को नकार दिया है.

सतीश उपाध्याय ने कहा कि नोटबंदी का विरोध करके केजरीवाल ने बता दिया है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ उनकी लडा़ई महज दिखावा थी और वो भ्रष्टाचार को खत्म करने के नहीं बल्कि कालेधन को जमा करने वालों के समर्थन में खड़े हैं.

दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष ने कहा कि चांदनी चौक, करोल बाग, कनॉट प्लेस सहित दिल्ली के प्रमुख बाजारों में बंद को कोई असर नहीं दिखा, साथ ही गली मोहल्ले की छोटी-छोटी दुकानें भी खुली रहीं. उपाध्याय ने व्यापारियों और दुकानदारों को बधाई और धन्यवाद दिया साथ ही दावा किया कि दिल्ली के व्यापारी और आम लोगों का अब केजरीवाल से भरोसा उठ गया है.

उपाध्याय ने आरोप लगाया कि केजरीवाल बाजार बंद करवाकर अराजकता का माहौल बनाना चाहते थे, लेकिन जिस तरह से आम लोगों ने मोदी जी के फैसले को समर्थन दिया है, उससे केजरीवाल एक्सपोज़ हो गए हैं और ये उनके मुंह पर कालिख पोते जाने जैसा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें