scorecardresearch
 

दिल्ली: मनोज तिवारी का नया नारा- अभी जीते सात में सात अब जीतेंगे सत्तर में साठ

मनोज तिवारी ने कहा कि जो मुख्यमंत्री 55 महीने बोलता रहा कि हमें काम नहीं करने दिया जा रहा है. अब वो आखिरी पांच महीने में कैसे काम कर लेगा? तिवारी ने कहा कि दिल्ली को बीजेपी की जरूरत है और अबकी बार उनकी पार्टी सत्तर में साठ सीटें जीतेगी.

मनोज तिवारी का रोड शो (अंकित-aajtak.in) मनोज तिवारी का रोड शो (अंकित-aajtak.in)

लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सभी सातों सीटें जीतने के बाद अब दिल्ली बीजेपी का निशाना अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव पर है. यही वजह है कि बीजेपी ने अब मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधना और तेज कर दिया है.

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी लोकसभा चुनाव जीतने के बाद रविवार को अपने उत्तर पूर्व लोकसभा क्षेत्र पहुंचे. मनोज तिवारी ने इस दौरान रोड शो किया और वोटर्स को धन्यवाद दिया. इसी के साथ मनोज तिवारी ने जनता से अपील करते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव में दिल्ली को बीजेपी की जरूरत है. केंद्र में मोदी सरकार है, ऐसे में दिल्ली में भाजपा के जीतने से दोगुनी रफ्तार से विकास होगा.

देश में मोदी, दिल्ली में भाजपा से बनेगी बात

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने आजतक से खास बातचीत में कहा कि जनता ने देश में मोदी को चुन लिया है. ऐसे में दिल्ली मे भाजपा का जीतना ज़रूरी है. तिवारी ने कहा कि अगला निशाना दिल्ली विधानसभा चुनाव है. मनोज तिवारी ने कहा कि अभी सात में सात सीटें जीते हैं, अब सत्तर में साठ जीतेंगे. उन्होंने कहा कि बीस साल का वनवास खत्म होगा.

दिल्ली के लिए अभिशाप हैं केजरीवाल

चुनाव जीतने के बाद धन्यवाद यात्रा के दौरान मनोज तिवारी ने अरविंद केजरीवाल को दिल्ली का अभिशाप बता दिया. दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि नाकाम और झूठे केजरीवाल को जनता परमानेंट हटाएगी, क्योंकि केजरीवाल दिल्ली के अभिशाप हैं.

मनोज तिवारी ने कहा, जो मुख्यमंत्री 55 महीने बोलता रहा कि हमें काम नहीं करने दिया जा रहा है. अब वो आखिरी पांच महीने में कैसे काम कर लेगा? ऐसे में दिल्ली की जनता नाकाम झूठे दिल्ली के अभिशाप अरविंद केजरीवाल को परमानेंट हटाएगी.

गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा का कार्यकाल 2020 के फरवरी में पूरा हो रहा है, इस साल के आखिर में दिल्ली के चुनाव का ऐलान हो सकता है. 2015 में दिल्ली विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने 70 विधानसभा सीटों में से 67 सीटों पर जीत हासिल की थी. जबकि मौजूदा लोकसभा चुनाव में उसे एक भी सीट नहीं मिल पाई है. ऐसे में सातों सीटों जीतने वाली बीजेपी आगामी विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने की रणनीति बना रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें