scorecardresearch
 

केजरीवाल का एक और बड़ा कदम, मोहल्ला क्लीनिक के बाद अब मोहल्ला मार्शल

केजरीवाल सरकार अपने तीसरे कार्यकाल की शुरुआत में ही महिला सुरक्षा की दिशा में एक और बड़ा कदम उठा सकती है. प्रदेश सरकार अब चुनावी वादे को पूरा करते हुए जल्द ही दिल्ली के मोहल्लों में मोहल्ला मार्शल तैनात करने का ऐलान कर सकती है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

  • मंत्री राजेंद्र पाल गौतम से DCW अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने की मुलाकात
  • AAP के चुनाव घोषणा पत्र में भी शामिल था मोहल्ला मार्शल का वादा

दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए डीटीसी बसों में मार्शल की तैनाती की थी. अब केजरीवाल सरकार अपने तीसरे कार्यकाल की शुरुआत में ही महिला सुरक्षा की दिशा में एक और बड़ा कदम उठा सकती है. प्रदेश सरकार अब चुनावी वादे को पूरा करते हुए जल्द ही दिल्ली के मोहल्लों में मोहल्ला मार्शल तैनात करने का ऐलान कर सकती है.

इसके लिए शुक्रवार को दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने महिला और बाल कल्याण विभाग के मंत्री राजेंद्र पाल गौतम से मुलाकात की. मालीवाल और गौतम के बीच हुई मुलाकात के दौरान मंत्री ने मोहल्ला मार्शल तैनात किए जाने पर अपनी सहमति दे दी. इस दौरान एससी और एसटी समाज की महिलाओं के लिए वेलफेयर सेल बनाने की योजना पर भी चर्चा हुई.

यह भी पढ़ें- प्रदूषण का रियल टाइम डेटा जरूरी, पुराने से नहीं बनेगा एक्शन प्लान: गोपाल राय

गौरतलब है कि दिल्ली महिला आयोग ने बुराड़ी इलाके में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर सिविल डिफेंस अधिकारियों के साथ मिलकर मोहल्ला मार्शल नियुक्त किए थे, जिसके नतीजे संतोषजनक रहे थे. दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए जारी अपने घोषणा पत्र में भी आम आदमी पार्टी ने सभी इलाकों में महिलाओं की सुरक्षा के लिए मोहल्ला मार्शल तैनात करने का वादा किया था.

यह भी पढ़ें- वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मिले मनीष सिसोदिया, MCD के लिए मांगा फंड

अब, जबकि दिल्ली में एकबार फिर अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी की सरकार का गठन हो चुका है, दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष और मंत्री गौतम की मुलाकात के बाद अटकलें लगाई जा रही हैं कि इससे संबंधित प्रस्ताव जल्द ही कैबिनेट की बैठक में लाया जा सकता है. दिल्ली महिला आयोग का कहना है कि पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इसके नतीजे संतोषजनक थे, इसलिए इसे दिल्ली के सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में लागू किया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें