scorecardresearch
 

न ट्रैफिक जाम, रात 12 बजे तक स्ट्रीट फूड, केजरीवाल ने बताया चांदनी चौक पर अब होगा ये सब

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने रविवार को चांदनी चौक के पुनर्विकास और सौंदर्यीकरण कार्य का उद्घाटन किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि यहां पर केवल चांदनी चौक के लोग ही नहीं, बल्कि पूरे दिल्ली के लोग आ रहे हैं और देख रहे हैं कि चांदनी चौक कितनी खूबसूरत जगह बन गई है.

चांदनी चौक को रिडेवलप किया गया है. चांदनी चौक को रिडेवलप किया गया है.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 1.4 किमी लंबा है चांदनी चौक कॉरिडोर
  • तीन साल में बनकर हुआ है तैयार
  • सीएम केजरीवाल ने किया उद्घाटन

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने रविवार को चांदनी चौक के पुनर्विकास और सौंदर्यीकरण कार्य का उद्घाटन किया. इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि टूटी सड़कें, ट्रैफिक जाम, लटकते बिजली के तार, चांदनी चौक की पहले तस्वीर हुआ करती थी. वहीं, अब पूरे दिल्ली के लोग देखने आ रहे हैं कि चांदनी चौक कितनी खूबसूरत जगह बन गई है. इस एरिया में रात 12 बजे तक स्ट्रीट फूड की अनुमति रहेगी, ताकि यहां आने वाले लोग खाने का आनंद ले सकें.

चांदनी चौक के इस सड़क मार्ग पर वाहनों की भीड़भाड़ को कम करने के लिए सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक वाहनों की आवाजाही को प्रतिबंधित किया गया है. उद्घाटन करते हुए सीएम केजरीवाल ने कहा, 'चांदनी चौक से दिल्ली की पहचान होती है। पूरे देश में ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में अगर कोई दिल्ली का नाम लेता है, तो सबसे पहले चांदनी चौक दिमाग में आता है. यहां पर केवल चांदनी चौक के लोग ही नहीं, बल्कि पूरे दिल्ली के लोग आ रहे हैं और देख रहे हैं कि चांदनी चौक कितनी खूबसूरत जगह बन गई है.'

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 'लाल किला से फतेहपुरी मस्जिद तक का ये पूरा स्ट्रेच लगभग 1.4 किलोमीटर का है. जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. लटक रहे सभी बिजली के तार भूमिगत कर दिए गए हैं. एक तरह से अब यह दिल्ली का सबसे महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल बन गया है. अब कोई भी दिल्ली आएगा, तो सबसे पहले चांदनी चौक देखने के लिए आएगा.'

फोटो- पीटीआई

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बारिश के दौरान हो रहे जलभराव के बारे में कहा कि 'केवल चांदनी चौक ही नहीं, बल्कि पूरी दिल्ली के ड्रेनेज सिस्टम को ठीक करने के लिए योजना बनाई जा रही है. दिल्ली का ड्रेनेज सिस्टम हमें विरासत में मिला है. वो दो सालों में ठीक नहीं हो सकता है. हम लोग पूरी दिल्ली के ड्रेनेज सिस्टम को ठीक करने का प्लान बना रहे हैं.'

ये भी पढ़ें-- दिल्लीः चांदनी चौक के सौंदर्यीकरण से कारोबार हुआ ठप, कोर्ट जाने की तैयारी में व्यापारी

क्या है चांदनी चौक पुनर्विकास प्रोजेक्ट? 

चांदनी चौक कॉरिडोर की लंबाई 1.4 किलोमीटर है और रोड की चौड़ाई 26 से 30 मीटर है. लालकिला जंक्शन की चौड़ाई 40 मीटर और स्ट्रेच-1 (लाल जैन मंदिर से गुरुद्वारा सीसगंज) 440 मीटर है. इसी तरह, स्ट्रेच-2 (गुरुद्वारा सीसगंज से टाउन हॉल) 450 मीटर, स्ट्रेच-3 (टाउन हॉल से बल्लीमारान) 220 मीटर और स्ट्रेच-4 (बल्लीमारान से फतेहपुरी मस्जिद) 250 मीटर है. वहीं, जोन-1 में इमारतों के अंत तक एनएमवी लेन का किनारा 5 से 11 मीटर चौड़ा है. इसी तरह, जोन-2 में एनएमवी लेन 5.5 मीटर, जोन-3 में सेंट्रल वर्ज 3.5 मीटर, जोन-4 में एनएमवी लेन 5.5 मीटर और जोन 5 में इमारतों के अंत तक एनएमवी लेन का किनारा 5 से 10 मीटर चौड़ा है. जोन-1 और जोन-5 के सड़क मार्ग को ग्रेनाइट से बनाया गया है. जोन-3 ग्रीन एरिया के बीच में ग्रेनाइट फर्श दिया गया है और जोन-2 और जोन-4 के सड़क मार्ग के फुटपाथ को रंगीन कंक्रीट से बनाया गया है.

सड़क मार्ग पर चार जंक्शन बनाए गए हैं. यह जंक्शन लाल किला, गुरुद्वारा सीसगंज (फाउंटेन चौक), टाउन हॉल और फतेहपुरी मस्जिद के पास बने हैं. इसके अलावा, लोगों की सहूलियतों का ख्याल रखते हुए 4 शौचालय और 2 पुलिस पोस्ट बनाया गया है. साथ ही, वाटर एटीएम, एसएस कूड़ेदान और बैठने के लिए सैंडस्टोन की सीटें लगाई गई हैं.

फोटो- पीटीआई

ये भी पढ़ें-- केजरीवाल सरकार बनवा रही आधुनिक कुआं, निकाला जा सकेगा 90 लाख लीटर पानी

इसके अलावा जगह-जगह लाइट और सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. जोन-1 से जोन-5 तक 197 इलेक्ट्रिक पोल लगाए गए हैं. पूरे एरिया में 124 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. इसमें चोरी की घटनाओं को नियंत्रित करने और पुलिस को मदद के लिए 100 बुलेट कैमरे लगाए गए हैं.

यातायात को नियंत्रित करने के लिए 23 एनपीआर कैमरे लगाए गए हैं. लाल किला जंक्शन पर एक आरएलवीडी कैमरा लगा है. इसके अलावा, यातायात की आवाजाही को नियंत्रित करने के लिए सड़कों पर 17 बूम बैरियर लगाए गए हैं. आने वाले दिनों में यातायात कानूनों के उल्लंघन को नियंत्रित करने और एनएमवी नियमों को सुनिश्चित कराने के लिए बूम बैरियर स्थानों पर 17 एनपीआर कैमरे लगाए जाएंगे.

चांदनी चौक को हमेशा साफ-सुथरा रखने का भी इंतजाम किया है. नियमित रूप से साफ-सफाई के लिए कर्मचारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है. वॉच एंड वार्ड के साथ शौचालयों का रखरखाव किया जाएगा. चांदनी चौक कॉरिडोर के पूरी एरिया में प्रतिदिन मैन्युअल सफाई की जाएगी. पर्यावरण के अनुकूल बैट्री चालित स्क्रबर और स्वीपर के माध्यम से मशीन से सफाई की जाएगी. साथ ही, सड़क पर लगाए गए सभी फर्नीचर जैसे- बोलर्ड और सैंड स्टोन की सीटों की नियमित सफाई और धुलाई की जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें