scorecardresearch
 

CBI ने बैंक फ्रॉड केस में अपने ही हेडक्वार्टर में की तलाशी, 2 DSP समेत कई अफसर रडार पर

सीबीआई को अपने कुछ अधिकारियों जिसमें दो डीएसपी भी शामिल हैं, उनपर रिश्वत लेने का शक है. सीबीआई को शक है कि इन अधिकारियों ने बैंक फ्रॉड के आरोपी से घूस लिया.

CBI ने बैंक फ्रॉड केस में अपने ही हेडक्वार्टर में की तलाशी (फाइल फोटो) CBI ने बैंक फ्रॉड केस में अपने ही हेडक्वार्टर में की तलाशी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बैंक फ्रॉड केस में सीबीआई की तलाशी
  • दो डीएसपी रैंक के अधिकारियों पर रिश्वत लेने का शक
  • गाजियाबाद में सीबीआई अधिकारी के घर पर छापा

केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) की टीम ने गुरुवार को नई दिल्ली स्थित अपने मुख्यालय में तलाशी की. सीबीआई को अपने कुछ अधिकारियों जिसमें दो डीएसपी भी शामिल हैं, उनपर रिश्वत लेने का शक है. सीबीआई को शक है कि इन अधिकारियों ने बैंक फ्रॉड के आरोपी से घूस लिया. गुरुवार सुबह से सीबीआई दिल्ली, गाजियाबाद समेत कई जगहों पर छापेमारी कर चुकी है. 

सीबीआई ने गाजियाबाद में सीबीआई अधिकारी के परिसर में छापा मारा था. ये अधिकारी वर्तमान में सीबीआई अकादमी में तैनात हैं. जांच एजेंसी ने गाजियाबाद में सीबीआई अकादमी में तैनात डीएसपी रैंक के अधिकारी आरके ऋषि सहित चार अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. अन्य तीन डीएसपी आरके सांगवान और बीएसएफसी (बैंकिंग सुरक्षा) के दो अधिकारी हैं.

सीबीआई ने पद के दुरुपयोग और भ्रष्टाचार के एक मामले में इन अधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज किया है. अधिकारियों पर आरोप है कि इन्होंने बैंक फ्रॉड की आरोपी कंपनियों को मदद पहुंचाई. एजेंसी ने कुछ अधिवक्ताओं और अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है. 

देखें: आजतक LIVE TV

इन सीबीआई अधिकारियों के खिलाफ छापेमारी गुरुवार सुबह शुरू हुई. एंटी करप्शन यूनिट द्वारा सीबीआई के एक परिसर में भी तलाशी की गई. सीबीआई के प्रवक्ता आरसी जोशी ने कहा कि गुरुवार को दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा, गुरुग्राम, मेरठ और कानपुर के 14 ठिकानों पर छापेमारी की गई. 

इससे पहले सीबीआई ने बुधवार को रिश्वतखोरी के दो अलग-अलग मामलों में दिल्ली पुलिस के दो हेड कांस्टेबल को गिरफ्तार किया था. इनमें से एक कनॉट प्लेस में तैनात था जबकि दूसरे की तैनाती भजनपुरा थाने में थी. सीबीआई के मुताबिक, नई दिल्ली के कनॉट प्लेस पुलिस स्टेशन में तैनात हेड कांस्टेबल अजीत शर्मा को दो गैर सरकारी व्यक्तियों राकेश गुप्ता और लाला के साथ गिरफ्तार किया गया था. कांस्टेबल अजीत शर्मा पर आरोप है कि उसने शिकायतकर्ता से नई दिल्ली के कनॉट प्लेस में सड़क के किनारे अपनी दुकान चलाने के लिए रिश्वत की मांगी थी. 

सीबीआई प्रवक्ता आरसी जोशी ने बताया कि आरोपी हेड कांस्टेबल अजीत शर्मा को शिकायतकर्ता से 25 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए एक अन्य व्यक्ति के साथ जाल में फंसाया और उसे गिरफ्तार कर लिया. 

ये भी पढ़ें


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें