scorecardresearch
 

दिल्‍ली: मेट्रो के बाद अब बढ़ सकता है ऑटो का किराया

अरविंद केजरीवाल के घर बैठक में शामिल होने वाले ऑटो रिक्शा संगठन से जुड़े इंद्रजीत ने बताया कि ऑटो रिक्शा चालकों को पिछले कई सालों से महंगाई का सामना करना पड़ रहा है. इंद्रजीत का कहना है कि सरकारी फिटनेस से लेकर बीमा राशि काफी ज्यादा बढ़ गयी है.

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ने के बाद अब राजधानी में ऑटो रिक्शा का किराया बढ़ाए जाने की मांग तेज हो गयी है. ऑटो रिक्शा संगठन से जुड़े कई प्रतिनिधियों ने सोमवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से 6 फ्लैग स्टाफ रोड पर मुलाकात की. इस दौरान परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत और विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहे.

अरविंद केजरीवाल के घर बैठक में शामिल होने वाले ऑटो रिक्शा संगठन से जुड़े इंद्रजीत ने बताया कि ऑटो रिक्शा चालकों को पिछले कई सालों से महंगाई का सामना करना पड़ रहा है. इंद्रजीत का कहना है कि सरकारी फिटनेस से लेकर बीमा राशि काफी ज्यादा बढ़ गयी है. इसके मद्देनजर ऑटो रिक्शा संगठन ने किराया बढ़ोतरी को लेकर 3 मुख्य मांगें मुख्यमंत्री के सामने रखी हैं.

1. पहले एक किलोमीटर का किराया 25 रुपए किया जाए. आपको बता दें कि ये चार्ज फिलहाल शुरुआत के दो किलोमीटर के लिए लिया जाता है.  

2. साथ ही इसके बाद हर एक किलोमीटर के लिए किराया प्रति किलोमीटर 8 रुपए से बढ़ाकर 10 रुपए प्रति किलोमीटर किया जाए.

3. सवारी बैठने के बाद ट्रैफिक जाम की स्‍थ‍िति में वेटिंग चार्ज को बढ़ाकर 1 रुपए प्रति मिनट कर दिया जाए. फिलहाल ऑटो रिक्शा में वेटिंग चार्ज 17 मिनट के बाद शुरू होता है.

केजरीवाल ने बैठक के दौरान ऑटो रिक्शा संगठन की मांग सुनी और परिवहन विभाग को ऑटो किराया बढ़ाने से जुड़े हर पहलू पर विचार या चर्चा के लिए जल्द से जल्द एक कमेटी का गठन करने के आदेश दिए हैं.

परिवहन विभाग के मुताबिक ऑटो रिक्शा किराया बढ़ाने को लेकर चर्चा करने वाली कमेटी में दिल्ली सरकार के वित्त विभाग और परिवहन विभाग के अलावा डीटीसी और डिम्ट्स के अधिकारी भी होंगे. साथ ही कमेटी में ऑटो रिक्शा संगठन के प्रतिनिधियों को भी शामिल किया जाएगा. ये कमेटी महंगाई, ऑटो रिक्शा के मेंटिनेंस के बढ़ते दाम और बढ़ती ईंधन की कीमतों को ध्यान में रखकर रिपोर्ट तैयार करेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें