scorecardresearch
 

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत बोले- कांग्रेस के कैप्टन राहुल गांधी ही रहेंगे

आजतक के साथ बातचीत में अशोक गहलोत ने कहा कि कई लोगों की भावना रहती है कि राहुल जी अपना काम कैप्टन की तरह करते रहें. अशोक गहलोत ने कहा मुझे खुशी है कि कम से कम युवाओं में एक ऐसी भावना बनी हुई है कि जल्दी से जल्दी कांग्रेस की कमान राहुल जी वापस संभालें और काम शुरू करें, यह इनकी भावना का प्रतीक है जिसका हम सब आदर करते हैं.

कांग्रेस दफ्तर के सामने धरना दे रहे कार्यकर्ताओं को मनाने आए गहलोत (फोटो-एएनआई) कांग्रेस दफ्तर के सामने धरना दे रहे कार्यकर्ताओं को मनाने आए गहलोत (फोटो-एएनआई)

राहुल गांधी को मनाने की लगातार कोशिश हो रही है. देश भर से कांग्रेस कार्यकर्ता मांग कर रहे हैं कि राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष के पद पर बने रहें. इसी मांग को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ता पार्टी मुख्यालय के बाहर दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे थे. मंगलवार को धरना दे रहे कांग्रेसी कार्यकर्ताओं से सीनियर कांग्रेस नेता अहमद पटेल और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुलाकात की. अशोक गहलोत ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि कांग्रेस के कैप्टन राहुल गांधी ही रहेंगे. गहलोत ने कहा कि मोदी और अमित शाह से टक्कर लेने का दमखम राहुल गांधी में ही है.  

आजतक के साथ बातचीत में अशोक गहलोत ने कहा कि कई लोगों की भावना रहती है कि राहुल जी अपना काम कैप्टन की तरह करते रहें. अशोक गहलोत ने कहा, "मुझे खुशी है कि कम से कम युवाओं में एक ऐसी भावना बनी हुई है कि जल्द से जल्द कांग्रेस की कमान राहुल जी वापस संभालें और काम शुरू करें, यह इनकी भावना का प्रतीक है जिसका हम सब आदर करते हैं."

अशोक गहलोत ने कहा कि सोनिया गांधी के वक्त में कितने टेंट लग गए थे और आज भी वही जज्बा लोगों के अंदर है. उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता यहां भी टेंट लगाने वाले थे लेकिन उन्हें रोक के रखा गया था. बता दें कि 2004 में जब सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री बनने से इनकार कर दिया था तो बड़ी संख्या में कांग्रेस के कार्यकर्ता उन्हें मनाने आए थे. उस वाकये को याद करते हुए अशोक गहलोत ने कहा, "हमने वह टाइम भी देखा है जब सोनिया जी के वक्त में एक समय ऐसा आया था जब आपने देखा होगा कि एआईसीसी के सामने कितने टेंट लग गए थे, मैडम को ही आखिर में आना पड़ा मिलने के लिए...वह टाइम भी हमने देखा है. तो राहुल जी के लिए भी वही प्यार, वही मोहब्बत, वही स्नेह, इनके बीच में है."

बता दें वरिष्ठ कांग्रेस नेता मोतीलाल वोरा के समझाने के बाद कांग्रेस दफ्तर के सामने प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ता उठने के लिए राजी हुए. अशोक गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी ही कांग्रेस के कैप्टन रहेंगे और पार्टी का एजेंडा तय करेंगे. उन्होंने कहा कि वे हमेशा से पार्टी के लिए काम करते आए हैं और आगे भी करते रहेंगे. अशोक गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी की प्रेरणा से ही कांग्रेस के कार्यकर्ता फासिस्ट ताकतों के खिलाफ संघर्ष करेंगे. राजस्थान के सीएम ने कहा कि सच्चाई राहुल गांधी जी के पक्ष में है और अंतिम विजय सच्चाई की ही होती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें