scorecardresearch
 

कोर्ट से मंजूर होते ही नोटिफाई की जाएंगी 351 सड़कें: अरविंद केजरीवाल

केजरीवाल ने कहा कि आने वाले सोमवार को 351 सड़कों का मामला सुप्रीम कोर्ट में रेफर कर देंगे और कोर्ट से अप्रूव होते ही 351 सड़कें नोटिफाई हो जाएंगी. केजरीवाल ने दावा किया कि ये मामला 2007 का है, हमने फाइल तेजी से चलाई है.

अरविंद केजरीवाल अरविंद केजरीवाल

दिल्ली में चल रही सीलिंग के मुद्दे पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गांधी नगर मार्केट में एक जनसभा को संबोधित किया. दिल्ली में सीलिंग के मुद्दे पर 351 सड़कों को नियमित करने की मांग पर बोलते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 351 सड़कों का मामला डीडीए से अप्रूव होकर पिछले शुक्रवार को पहुंचा है.

केजरीवाल ने कहा कि आने वाले सोमवार को 351 सड़कों का मामला सुप्रीम कोर्ट में रेफर कर देंगे और कोर्ट से अप्रूव होते ही 351 सड़कें नोटिफाई हो जाएंगी. केजरीवाल ने दावा किया कि ये मामला 2007 का है, हमने फाइल तेजी से चलाई है.

अरविंद केजरीवाल ने सभी से अपील करते हुए कहा कि सारी पार्टी इस मुद्दे पर राजनीति छोड़ें. सीएम आवास पर हुई मीटिंग में बीजेपी नहीं आई लेकिन अगर वो आने के लिए राजी होती है तो मैं फिर से मीटिंग बुला लूंगा. केंद्र सरकार जल्लिकट्टु के लिए अध्यादेश ला सकती है, मगर क्या दिल्ली के व्यापारियों के लिए नहीं ला सकती?

केजरीवाल ने फिर से अपनी बात दोहराते हुए कहा कि 31 मार्च तक ये सीलिंग नहीं रोकी गई तो अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल पर बैठूंगा. सड़क पर आने की जरूरत पड़ी तो फिर आऊंगा. रैली को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि सोमवार को केंद्रीय मंत्री हरदीप पूरी ने लंच पर बुलाया है देखते हैं क्या समाधान पेश करते हैं.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ये मामला केंद्र के अंतर्गत आता है, मगर मैं यहां आपसे पल्ला झाड़ने नहीं आया हूं. व्यापारियों को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि एमसीडी ने साढ़े 3 से 4 हजार करोड़ रुपये पिछले 10-15 साल में कन्वर्जन चार्ज के तौर पर लिया है. कानून में लिखा है ये पैसा अलग अकाउंट में डाला जाना चाहिए. शक होता है कि जो कन्वर्जन चार्ज मार्केट, पार्किंग के लिए खर्च होना था वो पैसा ये लोग कहीं और खर्च कर गए.

केजरीवाल ने व्यापारियों को भरोसा देते हुए कहा कि कोशिश करेंगे कि स्मॉल स्केल इंडस्ट्री की परिभाषा बदल दी जाए. दिल्ली सरकार इस पर काम कर रही है. 11 किलोवाट और 11 कारीगर पर विचार किया जा रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें