scorecardresearch
 

'जल सत्याग्रह' में फूटे मटके, कांग्रेस का केजरीवाल पर निशाना

कांग्रेस पार्टी ने जल सत्याग्रह आंदोलन के द्वारा दिल्ली में केजरीवाल सरकार को घेरने की कोशिश की है. इसी कड़ी में दिल्ली के बवाना विधानसभा में कांग्रेस पार्टी ने 'जल सत्याग्रह' आंदोलन का आयोजन किया. दिल्ली की बड़ी विधानसभाओं में से एक बवाना में पानी की किल्लत बहुत ज्यादा है, स्थानीय लोगों के मुताबिक पानी आता नहीं है और जो टैंकर आते हैं वो पर्याप्त पानी नहीं देते हैं .

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

दिल्ली में इन दिनों पानी का संकट पूरी तरह उफान पर है, एक तरफ जहां दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने LG निवास में अपना धरना खत्म किया है, तो दूसरी तरफ मुख्य विपक्षी पार्टी बीजेपी ने भी धरना दिया. वहीं, कांग्रेस पार्टी ने इस दौरान लगातार जल सत्याग्रह आंदोलन दिल्ली के हर हिस्से-हर कोने में किया है.

कांग्रेस पार्टी ने जल सत्याग्रह आंदोलन के द्वारा दिल्ली में केजरीवाल सरकार को घेरने की कोशिश की है. इसी कड़ी में दिल्ली के बवाना विधानसभा में कांग्रेस पार्टी ने 'जल सत्याग्रह' आंदोलन का आयोजन किया और मटके फोड़े. दिल्ली की बड़ी विधानसभाओं में से एक बवाना में पानी की किल्लत बहुत ज्यादा है, स्थानीय लोगों के मुताबिक पानी आता नहीं है और जो टैंकर आते हैं वो पर्याप्त पानी नहीं देते हैं .

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चतर सिंह ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में पानी के अतिरिक्त इंतजाम के लिए कोई कदम नहीं उठाया है. केजरीवाल सरकार पर निशाना साधते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि महज AC में बैठकर धरना देने से दिल्ली की जनता को पानी नहीं मिलता है. केजरीवाल खुद तो AC में बैठकर मिनरल वाटर पीते रहे और उधर दिल्ली की जनता बूंद-बूंद पानी के लिए सड़कों पर तरसती रही. ऐसे में सिर्फ कांग्रेस पार्टी ने ही जमीन पर जल सत्याग्रह करके जनता की आवाज को उठाया है.

इलाके के पूर्व विधायक सुरेंद्र का कहना है कि पानी की किल्लत के साथ साथ करप्शन इतना ज्यादा है कि पानी के टैंकर बिक जाते है. जिस तरह से पक्ष और विपक्ष की दो प्रमुख पार्टियां धरने की राजनीति पर लगी है, वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी ज़मीन पर जल सत्याग्रह की मुहिम से दिल्ली की जनता से रूबरू हो रही है. इससे जाहिर होता है कि जनता से कनेक्ट होने के लिए पानी की प्यास अपने आप में बड़ा मुद्दा है जिसे भुनाने में कांग्रेस पार्टी कोई कसर नहीं छोड़ रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें