scorecardresearch
 

थप्पड़कांड पर टूटी केजरीवाल की चुप्पी, बोले- जिद्दी हूं, हिंसात्मक नहीं

केजरीवाल ने कहा है कि हिंसा कायर लोग करते हैं और हम कायर नहीं हैं. उन्होंने ये भी कहा कि केजरीवाल जिद्दी हो सकता है, लेकिन हिंसात्मक नहीं और हम लोग कभी भी हिंसा नहीं करेंगे

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट केस के दो हफ्ते से ज्यादा बीत जाने पर पहली बार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का इस मसले पर बयान आया है. अरविंद केजरीवाल ने चुप्पी तोड़ते हुए अपने बचाव में कहा है कि वह जिद्दी हो सकते हैं, लेकिन हिंसात्मक कभी नहीं हो सकते.

अंशु प्रकाश से मारपीट के आरोप में आम आदमी पार्टी के दो विधायक अमानतुल्ला खान और प्रकाश जारवाल अभी जेल में बंद हैं. ऐसे में पहली बार केजरीवाल ने चुप्पी तोड़ी है. एक वीडियो जारी कर केजरीवाल ने कहा है कि हिंसा कायर लोग करते हैं और हम कायर नहीं हैं. उन्होंने ये भी कहा कि केजरीवाल जिद्दी हो सकता है, लेकिन हिंसात्मक नहीं और हम लोग कभी भी हिंसा नहीं करेंगे.

अरविंद केजरीवाल का ये बयान ऐसे मौके पर आया है जहां एक तरफ उनकी पार्टी के विधायकों को कोर्ट से राहत नहीं मिल रही है. वहीं, दूसरी तरफ अधिकारियों ने कामकाज को लेकर भी मुश्किलें खड़ी कर रखी हैं.

आईएएस एसोसिएशन ने इस समस्या के समाधान के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल या उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने की शर्त रखी थी. ऐसे में केजरीवाल का ये बयान विवाद खत्म करने की दिशा में संकेत के तौर पर देखा जा रहा है.

ये है पूरा केस

19 फरवरी की रात मुख्य सचिव अंशु प्रकाश मीटिंग के लिए अरविंद केजरीवाल के सरकारी आवास गए थे. अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया था कि उनके साथ ओखला से विधायक अमानतुल्ला खान और देवली से विधायक प्रकाश जारवाल ने मारपीट की. यहां तक कि उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई. जिसके बाद अगले दिन 20 फरवरी को अंशु प्रकाश ने इस मामले में केस दर्ज कराया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें