scorecardresearch
 

जाट आंदोलन से दिल्ली में जल संकट, कल बंद रहेंगे सभी स्कूल, परीक्षाएं भी रद्द

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि सोमवार को सभी स्कूलों को बंद रखने का निर्देश दिया गया है. दिल्ली में रविवार सुबह तक का ही पानी है.

जाट आंदोलन ने मुनक नहर रोक कर बढ़ाई दिल्ली की परेशानी जाट आंदोलन ने मुनक नहर रोक कर बढ़ाई दिल्ली की परेशानी

दिल्ली सरकार ने बढ़ते जल संकट को देखते हुए सोमवार को सभी स्कूल बंद रखने का निर्देश दिया है. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि सोमवार को सभी स्कूलों को बंद रखने का निर्देश दिया गया है. दिल्ली में रविवार सुबह तक का ही पानी है. हमारे पास पानी उपलब्ध नहीं है और इसे पाने का तुरंत कोई रास्ता भी नहीं दिख रहा. उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. सोमवार को जिन स्कूलों में परीक्षाएं होनी थीं, वो भी रद्द कर दी गई हैं.

वीवीआईपी के अलावा सबको हिसाब से पानी
दिल्ली में जल संकट के मसले पर दिल्ली सरकार ने आपात बैठक की. सीएम अरविंद केजरीवाल के घर पर हुई बैठक के बाद फैसला लिया गया कि राष्ट्रपति भवन, प्रधानमंत्री आवास, सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के घर, अस्पतालों, रक्षा संस्थानों और दिल्ली फायर ब्रिगेड को पानी पहले की तरह पहुंचाई जाएगी. इसके अलावा पानी को हिसाब से बांटा जाएगा. सरकार ने एनडीएमसी, दिल्ली छावनी जैसे संस्थानों को भी हिसाब से पानी बांटने की सलाह दी है. दिल्ली जल बोर्ड की ओर से जारी बयान में आम लोगों से पानी को बचाने की अपील की गई है.

दिल्ली का पानी खत्म, संभव नहीं वाटर सप्लाई
पड़ोसी राज्य हरियाणा में जारी जाट आरक्षण आंदोलन की बढ़ती आग का दिल्ली पर असर पड़ रहा है. आंदोलनकारियों ने मुनक नहर से पानी की सप्लाई रोक दी है. इस कारण पहली बार दिल्ली के 7 प्लांट बंद हो गए हैं. दिल्ली के पर्यटन मंत्री और जल बोर्ड के मुखिया कपिल मिश्रा ने अपने एक ट्वीट में लिखा है कि राजधानी में रविवार सुबह के बाद एनडीएमसी सहित 60 फीसदी इलाकों में पाइप्ड वॉटर की सप्लाई संभव नहीं है.

काम न आया गृह मंत्री का भरोसा
शनिवार को इस मसले पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने फोन पर और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और मंत्री कपिल मिश्रा ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के आवास पर जाकर मामले की जानकारी दी. इसके बाद केंद्र और हरियाणा सरकार ने जल्द मुनक नहर से पानी आपूर्ति शुरू कराने का आश्वासन दिया है. उन्होंने कहा कि मुनक नहर की सुरक्षा के लिए सेना को भेजा जाएगा.

पानी डायवर्ट करने से मचा और हाहाकार
जाट आंदोलनकारियों ने शनिवार को मुनक नहर का फाटक बंद कर कर दिया. दिल्ली को हरियाणा से हर रोज करीब 1 हजार 85 क्यूसिक पानी सप्लाई किया जाता है. राजधानी के करीब 60 फीसदी इलाके में पेयजल आपूर्ति नहीं हो पा रही है. इसकी वजह से दिल्ली जल बोर्ड के 9 में से 7 प्लांट ठप हो गए. राजधानी दिल्ली में भेजे जाने वाले पश्चिमी यमुना लिंक कैनाल का पानी आंदोलनकारियों ने डायवर्ट कर दिया है. गढ़ी बिंदरोली गांव के पास से दिल्ली को सप्लाई होने वाले पानी को ड्रेन नंबर 8 में डायवर्ट किया गया है. पानी के डायवर्ट करने से दिल्ली में पानी की भारी किल्लत हो सकती है.

सुप्रीम कोर्ट में आज होगी सुनवाई
दिल्ली सरकार इस बाबत सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच गई है़. रविवार को इस मामले में सुनवाई हो सकती है. मंत्री कपिल मिश्रा ने कहा है कि साल 2011 में उत्तर प्रदेश में हुए आंदोलन के दौरान पानी और अन्य जरूरी खाद्य वस्तुओं की आपूर्ति प्रभावित किए जाने पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और सभी राज्य सरकारों को आदेश दिया था. इसमें कहा गया था कि बुनियादी जरूरत की चीजों की आपूर्ति किसी भी सूरत में प्रभावित नहीं की जानी चाहिए. अब हरियाणा में आंदोलन कर रहे प्रदर्शनकारियों ने मुनक नहर का गेट बंद कर यमुना का पानी रोक दिया है. इसलिए हमने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है.

सब्जी की आपूर्ति पर भी बुरा असर
जाट आंदोलन को लेकर परिवहन व्यवस्था बाधित होने से दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में फूलगोभी और आलू जैसी सब्जियों के थोक बिक्री मूल्य मामूली रूप से बढ़े हैं, दूध की आपूर्ति भी प्रभावित हुई है. आजादपुर मंडी के पदाधिकारियों ने कहा कि अगर विरोध प्रदर्शन जारी रहता है तो राष्ट्रीय राजधानी में सब्जियों की आपूर्ति आगे और प्रभावित होगी. फिलहाल सब्जियों की मांग को पड़ोसी राज्य राजस्थान से पूरा किया जा रहा है.

दूध की कमी गहराई
प्रमुख दूध उत्पादक कंपनी 'अमूल' ने पहले ही अपने रोहतक संयंत्र में परिचालन को बंद कर दिया है. वहहां पांच लाख लीटर प्रतिदिन दूध उत्पादन क्षमता है. क्वालिटी लिमिटेड ने कहा है कि उसने अपने सिरसा और फतेहाबाद चिलिंग सेन्टर से दूध संग्रहण का काम रोक दिया है. मौजूदा समय में दिल्ली-एनसीआर में दूध की मांग को उत्तर प्रदेश की बढ़ी हुई आपूर्ति से पूरा किया जा रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें