scorecardresearch
 

योगेंद्र यादव बोले- केजरीवाल के फैसले से शर्मसार

कपिल मिश्रा के रिश्वत के आरोप को मैंने खारिज किया लेकिन आज समझ नहीं पा रहा हूँ कि क्या कहूँ? हैरान हूँ, स्तब्ध हूँ, शर्मसार भी.

X
स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव

आम आदमी पार्टी की तरफ से दिल्ली की तीन राज्यसभा सीटों पर उम्मीदवारों के नाम की घोषणा के बाद बवाल शुरू हो गया है. एक तरफ जहां पत्ता कटने से नाराज कुमार विश्वास ने दो उम्मीदवारों एनडी गुप्ता और सुशील गप्ता के नाम पर पार्टी हाईकमान पर निशाना साधा है. वहीं पार्टी से निकाले जा चुके योगेंद्र यादव ने राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल पर सवाल उठाए हैं.

योगेंद्र यादव ने ट्वीट कर केजरीवाल पर गंभीर सवाल उठाए हैं. अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा है, 'पिछले तीन साल में मैंने ना जाने कितने लोगों को कहा कि अरविंद केजरीवाल में और जो भी दोष हों, कोई उसे खरीद नहीं सकता. इसीलिए कपिल मिश्रा के आरोप को मैंने खारिज किया. आज समझ नहीं पा रहा हूँ कि क्या कहूँ? हैरान हूँ, स्तब्ध हूँ, शर्मसार भी.'

पार्टी से निकाले जाने के बाद योगेंद्र यादव ने पार्टी नीतियों की आलोचना की है, लेकिन पिछले साल जब कपिल मिश्रा ने पार्टी से निष्कासित होने के बाद केजरीवाल पर रिश्वत का आरोप लगाया था, तब यादव ने उनका बचाव किया था. मगर, आज जब आम आदमी पार्टी की पीएसी में संजय सिंह के अलावा नारायण दास गुप्ता और सुशील गुप्ता का नाम फाइनल किया गया तो दोनों के नाम को लेकर केजरीवाल के फैसले की आलोचना होने लगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें