scorecardresearch
 

देवेंद्र सहरावत ने केजरीवाल को लिखी चिट्ठी, चापलूसों से दूर रहने की दी सलाह

आम आदमी पार्टी के बिजवासन से विधायक देवेंद्र सेहरावत इस बार मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ-साथ डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया पर हमला करते नज़र आए हैं.

देवेंद्र सेहरावत देवेंद्र सेहरावत

आम आदमी पार्टी के बिजवासन से विधायक देवेंद्र सेहरावत इस बार मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ-साथ डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया पर हमला करते नज़र आए हैं. सेहरावत ने सीएम को चिट्ठी लिखकर चापलूसों से दूर रहने की सलाह दी है तो मनीष सिसोदिया के फ़िनलैंड दौरे पर सवाल उठाए हैं.

सेहरावत ने अपने पत्र में अनेक आरोप लगाते हुए लिखा है कि 'अरविन्द जी देश को मत छलिए, आंदोलन से छल मत करिए. मैंने कभी आपमें लाल बहादुर शास्त्री की छवि देखी थी, लेकिन आप एक महत्वाकांक्षी, सत्ता हासिल करने वाले लालची नेता निकले. लाखों कार्यकर्ताओं की भावनाओं को भी आपने छला. मैंने अपने लेटर हेड पे हस्ताक्षर के साथ एक पत्र शटल बस सर्विस पे लिखा था कि किस तरह गुड़गांव की एक निजी बस कंपनी को नियम के विरुद्ध दिल्ली संवाद आयोग फायदा पहुंचा रहा है. कैसे कंपनी के नोट को सरकार के कैबिनेट नोट में बदल दिया गया, जिसका प्रमाण तत्कालीन परिवहन सचिव के पास था. लेकिन आपने अनदेखा किया.'

डेंगू और चिकनगुनिया पर विधायक देवेंद्र सेहरावत ने दिल्ली सरकार की तैयारियों पर सवाल उठाए और डिप्टी सीएम पर तंज कसते हुए कहा कि 'यहां दिल्ली में लोग डेंगू और चिकनगुनिया का प्रकोप से जूझ रहे हैं, और वहां मनीष सिसोदिया नवाब के तरह फ़िनलैंड में मस्ती कर रहे हैं. आम आदमी पार्टी और मायावती की पार्टी में कोई फर्क नहीं रह गया है.

आगे सेहरावत ने आरोप लगाया कि 'दिल्ली सरकार ने मुझे भी डेंगू-चिकनगुनिया की विशेष मीटिंग में नहीं बुलाया. अब जब नैया डूब गयी तो इनके नेता फोटो खिंचवाने लगे हैं. जो काम फरवरी से करवाना चाहिए था. वो अब किया जा रहा है और फॉगिंग मशीन खरीदी जा रही है. मुझे लगता है इनका पूरा ध्यान पंजाब, गोवा और फ़िनलैंड में है.'

आम आदमी पार्टी से निलंबित लेकिन मौजूदा विधायक देवेंद्र सेहरावत ने सीएम के करीबी विभव कुमार पर भी पत्र में सवाल खड़े किए. उन्होंने लिखा कि विभव को कापसहेड़ा के फन एंड फूड विलेज में देखा गया, जो कि संदिग्ध प्रतीत होती है. इसके अलावा सेहरावत ने कहा कि पूर्व परिवहन मंत्री गोपाल राय के भाई अवैधानिक तौर पर सरकारी बैठकों में हिस्सा ले रहे हैं. एमएलओ की पोस्टिंग में पैसा लिया जा रहा है. बड़े दलाल के इशारे पर सिक्योरिटी नंबर प्लेट की लॉबिंग हो रही है. ऑटो रिक्शा के लाइसेंस नवीनीकरण में घपले हो रहे हैं.' सेहरावत ने आगे कहा कि उन्होंने कभी पार्टी को कमजोर नहीं किया, बल्कि अंदरूनी कमजोरियों और खामियों को ठीक करने का प्रयास किया है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×