scorecardresearch
 

छत्तीसगढ़: हाथियों से जान बचाकर भागा पार्षद, रायपुर शहर में अलर्ट

शनिवार की सुबह रायपुर से सटे आरंग इलाके में लोग उस समय सकते में आ गए, जब उन्होंने बस्ती के करीब 18 हाथियों के एक दल को देखा. ये हाथी बस्ती के करीब पेड़ों की पत्तियां खा रहे थे.

हाथियों का उत्पात हाथियों का उत्पात

छत्तीसगढ़ में हाथियों का उत्पात जारी है. हाथियों ने अब जंगल से शहर की ओर रुख करना शुरू कर दिया है. यही वजह है कि शनिवार को एक पार्षद को हाथियों से जान बचाकर भागना पड़ा. 18 हाथियों का एक झुंड रायपुर शहर के करीब पहुंच चुका है.

शनिवार की सुबह रायपुर से सटे आरंग इलाके में लोग उस समय सकते में आ गए, जब उन्होंने बस्ती के करीब 18 हाथियों के एक दल को देखा. ये हाथी बस्ती के करीब पेड़ों की पत्तियां खा रहे थे. इसी दौरान आरंग नगर पंचायत के पार्षद सूरज लोधी भी जोबा फार्म हाउस में मॉर्निंग वॉक कर रहे थे. सुबह अंधेरा होने की वजह से वे हाथियों के झुण्ड को नहीं देख पाए. इसी दौरान हाथी चिंघाड़ते हुए उनकी ओर आने लगे. इसके बाद पार्षद को तेजी से फार्म हाउस से जान बचा कर भागना पड़ा.

हाथियों के दल ने  रात भर में फसलों को काफी नुकसान पहुंचाया. इसके बाद वन विभाग को घटना की जानकारी दी गयी है. हालांकि वन विभाग हाथियों को खदेड़ने के मामले में फिसड्डी साबित हुआ है. अब हाथी रायपुर शहर की ओर रुख करने लगे हैं, लिहाजा उम्मीद की जा रही है कि अब वन विभाग की नींद टूटेगी.

आपको बता दें कि हाथियों के उत्पात से छत्तीसगढ़ के आधा दर्जन से ज्यादा जिले प्रभावित हैं. इस कड़ी में रायपुर भी जुड़ गया है. हाल ही में वाइल्ड लाइफ कंजर्वेशन बोर्ड की बैठक में राज्य के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने वन विभाग के अफसरों को फटकार लगाई थी. रमन सिंह ने कहा था कि वन विभाग कब कब सक्रीय होगा, जब हाथी मुख्यमंत्री निवास की ओर रुख करेंगे तब?

अब हकीकत में मुख्यमंत्री निवास से मात्र 18 किलोमीटर दूर नए रायपुर के करीब जोरा इलाके तक हाथियों की आमद दर्ज हो गयी है. अभी तक हाथी आरंग टाउनशिप के आस पास के जंगलो में ही दिखाई दिया करते थे, लेकिन अब उनके कदम रायपुर शहर की ओर बढ़ रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें