scorecardresearch
 

पूर्व IAS और बीजेपी उम्मीदवार ओपी चौधरी पर चुनाव आयोग की टेढ़ी नजर

छत्तीसगढ़ के खरसिया से बीजेपी उम्मीदवार ओपी चौधरी विवादों में घिर गए हैं. उनपर आचार संहिता के उल्लंघन और मतदाताओं को प्रभावित करने की एक शिकायत कांग्रेस ने जिला और राज्य निर्वाचन आयोग के दफ्तर में दर्ज कराई है.

विवादों में घिर गए ओपी चौधरी( फोटो- सुनील नामदेव)  विवादों में घिर गए ओपी चौधरी( फोटो- सुनील नामदेव)

छत्तीसगढ़ की खरसिया विधानसभा सीट पर बीजेपी प्रत्याशी और रायपुर के पूर्व कलेक्टर ओ.पी. चौधरी विवादों में घिर गए हैं. उनपर आचार संहिता के उल्लंघन और मतदाताओं को प्रभावित करने की एक शिकायत कांग्रेस ने जिला और राज्य निर्वाचन आयोग के दफ्तर में दर्ज कराई है.

कांग्रेस ने अपनी शिकायत में कहा है कि खरसिया विधानसभा सीट में प्रत्याशी ओपी चौधरी की तरफ से युवाओं के लिए सेविंग किट बांटी जा रही है. इसमें बाकायदा इसका प्रचार भी हो रहा है.

कांग्रेस ने सेविंग किट का सेट भी निर्वाचन कार्यालय में जमा कराया है. कथित सेविंग किट में ओपी चौधरी की तस्वीर भी लगी है. सेविंग किट में साबुन, डिटॉल की शीशी, बाल काटने के लिए कैंची और शेविंग क्रीम है.

रायपुर में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को सौंपी गई शिकायत के बाद कांग्रेस नेता किरणमयी नायक ने कहा है कि ओपी चौधरी के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए. उधर बीजेपी प्रत्याशी ओपी चौधरी ने किसी भी किट के वितरण से इंकार किया है.  

उन्होंने कहा कि कांग्रेस झूठ फैला रही है. उन्होंने इस किट को लेकर अनभिज्ञता जाहिर की है. उधर बताया जा रहा है कि महीने भर पहले हेयर कट सैलून की दुकानों में बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने यह किट वितरित की थी. फ़िलहाल स्थानीय प्रशासन और पुलिस ने किसी भी स्थान से ओपी चौधरी की सेविंग किट की जब्ती से इंकार किया है.

फ़िलहाल कांग्रेस की शिकायत के बाद आयोग हरकत में आ गया है. जिला निर्वाचन कार्यालय और स्थानीय पुलिस इस सेविंग किट की तलाश में जुटी है. खरसिया विधानसभा सीट पर दूसरे दौर में अर्थात 20 नवंबर को मतदान होगा. इसके लिए नामांकन की प्रक्रिया शुक्रवार से शुरू होगी. ओपी चौधरी की सीधी टक्कर कांग्रेस प्रत्याशी उमेश पटेल से है.

उमेश पटेल कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और संयुक्त मध्य प्रदेश में गृहमंत्री रहे स्वर्गीय नंदकुमार पटेल के पुत्र हैं. 25 मई 2013 को झीरम घाटी में नक्सलियों ने कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा में हमला कर नंदकुमार पटेल समेत 32 कांग्रेसी नेताओं को मौत के घाट उतार दिया था.

इसके बाद खरसिया विधानसभा सीट में हुए उपचुनाव में उमेश पटेल ने भारी मतों से जीत दर्ज की थी. लगातार दूसरी बार विधायक बने उमेश पटेल के खिलाफ चुनावी प्रचार के लिए ओपी चौधरी को कड़ी मशक्क्त करनी पड़ रही है. स्थानीय बीजेपी कार्यकर्ता उन्हें पैराशूट कैंडिडेट बताकर पार्टी के चुनावी प्रचार से मुंह मोड़ रहे हैं.

बहरहाल ओपी चौधरी का सेविंग किट चुनावी आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर धूम मचा रहा है. फ़िलहाल देखना होगा कि कांग्रेस की शिकायत पर चुनाव आयोग क्या कार्रवाई करता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें