scorecardresearch
 

तेजप्रताप यादव के ससुर चंद्रिका राय बोले- ऐश्वर्या के रिश्ते जल्द सुधरेंगे

बिहार के सारण लोकसभा सीट से आरजेडी के प्रत्याशी और तेजप्रताप यादव के ससुर चंद्रिका राय ने उम्मीद जताई कि उनकी बेटी ऐश्वर्या और तेजप्रताप के रिश्ते जल्द सुधर जाएंगे. उन्होंने कहा कि तेजप्रताप ने मेरे खिलाफ चुनाव लड़ने की जो बात कही थी, वो फर्स्ट अप्रैल यानी फूल डे को कही थी. उन्होंने सबको फूल बनाया था.

तेज प्रताप और पत्नी ऐश्वर्या (फोटो-इंडिया टुडे आर्काइव) तेज प्रताप और पत्नी ऐश्वर्या (फोटो-इंडिया टुडे आर्काइव)

बिहार के सारण लोकसभा सीट से इस बार आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के परिवार का कोई चुनाव नहीं लड रहा है. इस बार इस सीट से लालू प्रसाद यादव के समधी चंद्रिका राय आरजेडी के टिकट से ताल ठोक रहे हैं. वो सारण के परसा विधानसभा सीट से 6 बार विधायक रह चुके हैं और बिहार में महागठबंधन की सरकार में मंत्री रहे हैं. इससे पहले भी वो बिहार सरकार में मंत्री रह चुके हैं.

चंद्रिका राय एक बार आरजेडी से अलग होकर निर्दलीय भी चुनाव जीत चुके हैं. हालांकि लोकसभा के उम्मीदवार पहली बार बने हैं. उनके पिता दरोगा राय बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके हैं. लालू प्रसाद यादव से पहले दरोगा राय समाजिक न्याय के सबसे बड़े नेता माने जाते थे. चंद्रिका राय को आरजेडी ने महागठबंधन की तरफ से सारण लोकसभा सीट से अपना उम्मीदवार बनाया है. चंद्रिका राय लालू प्रसाद यादव के समधी और तेजप्रताप यादव के ससुर हैं.

हाल ही में तेजप्रताप यादव ने कहा था कि अगर चंद्रिका राय को आरजेडी का टिकट मिला, तो उनके खिलाफ वो (तेजप्रताव यादव) चुनाव प्रचार करेंगे. हालांकि सारण में मतदान के लिए अब कुछ दिन ही बाकी बचे हैं, लेकिन अब तक तेजप्रताप यादव ने अपने ससुर के खिलाफ प्रचार नहीं किया. इस मामले में चंद्रिका राय का कहना है कि तेजप्रताप ने जो बयान दिया था, वो एक अप्रैल को दिया था. लिहाजा सभी समझ सकते हैं कि वह दिन कौन सा दिन था. उन्होंने लोगों को अप्रैल फूल बनाया. राय ने कहा कि उम्मीद पर दुनिया चलती है. आशा हमेशा रहती है. उम्मीद तो है कि उनकी बेटी ऐश्वर्या और तेजप्रताप यादव के संबंध सुधरेंगे.

आपको बता दें कि पिछले साल मई में चंद्रिका राय ने अपनी बेटी ऐश्वर्या की शादी लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव से बड़े धूमधाम से की थी. हालांकि शादी के कुछ महीने बाद मामला कोर्ट में पहुंच गया और तेजप्रताप ने कई सनसनीखेज आरोप लगाए. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि ऐश्वर्या अपने पिता चंद्रिका राय के लिए लोकसभा का टिकट चाहती थी, जिसकी वजह से रिश्ते बिगड़े. इन सबके बावजूद लालू प्रसाद यादव ने अपने समधी को टिकट दिया, तब तेजप्रताप यादव ये कहते पाए गए कि वो उनके खिलाफ प्रचार करेंगे, लेकिन ऐसा कुछ अबतक नहीं हुआ.

बुधवार को तेजप्रताप यादव के छोटे भाई तेजस्वी यादव ने पारसा में चंद्रिका राय के लिए वोट मांगे. इस दौरान तेजस्वी यादव लालू प्रसाद यादव के अंदाज में नजर आए. पारसा इलाका यादव बहुल क्षेत्र है, इसलिए भीड़ भी जबरदस्त थी. चंद्रिका राय ने कहा कि चुनाव में परिवारिक विवाद का कोई असर नहीं है. उन्होंने कहा, 'आप देख सकते हैं कि जनसमूह को कोई फर्क नहीं पड़ा है. पारिवारिक विवाद होते रहते हैं. ऐसे विवाद किसी के परिवार में भी हो सकते हैं. इसका असर जनता पर नहीं पड़ता है. जनता हमेशा मुद्दों पर विचारधारा पर तय करती है. इसके बाद अपना वोट देती है और सरकार चुनती है.

इस दौरान चंद्रिका राय ने यह भी कहा, 'मैं उम्मीद जरूर करता हूं कि तेजप्रताप वाला मामला जल्द सुलझ जाएगा. तेज प्रताप ने जो बयान दिया था, वो एक अप्रैल को दिया था. उस दिन फर्स्ट अप्रैल यानी फूल डे था.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें