scorecardresearch
 

बिहार: रघुवंश प्रसाद बोले- JDU-RJD साथ आए तो हार जाएगी बीजेपी

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा है कि बिहार में अगर गैर-बीजेपी दल साथ आए और महाराष्ट्र फॉर्मूला लागू हुआ तो भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) हार जाएगी. 

राष्ट्रीय जनता दल के नेता रघुवंश प्रसाद सिंह (फोटो-रोहित सिंह) राष्ट्रीय जनता दल के नेता रघुवंश प्रसाद सिंह (फोटो-रोहित सिंह)

  • नीतीश कुमार से हाथ मिलाने के दिए संकेत
  • बिहार में महाराष्ट्र फॉर्मूला का दिया सुझाव

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा है कि बिहार में अगर गैर-बीजेपी दल साथ आए और महाराष्ट्र फॉर्मूला लागू हुआ तो भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) हार जाएगी. उनसे आरजेडी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के गठबंधन की संभावनाओं को लेकर सवाल पूछा गया था. इस पर उन्होंने कहा कि अगर बीजेपी विरोधी पार्टियां साथ आईं और महाराष्ट्र फॉर्मूला लागू हुआ तो बीजेपी हार जाएगी. इसके अलावा कोई विकल्प नहीं है.

बीजेपी को सत्ता से बाहर रखने के लिए शिवसेना ने महाराष्ट्र में एनसीपी और कांग्रेस के साथ हाथ मिला लिया. इसके बाद आरजेडी नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने 2020 के विधानसभा चुनावों में बीजेपी को हराने के लिए बिहार में भी इसी तरह के फॉर्मूले की कोशिश करने की वकालत की है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बीजेपी को हराने के लिए एक बार फिर आरजेडी के साथ जाने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है.

रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा, "अगर गैर-बीजेपी दल एक साथ आते हैं तो बिहार में एनडीए की हार होगी. किसी को आश्चर्य नहीं होना चाहिए कि जेडीयू और आरजेडी फिर से एक साथ मिलें और मुझे लगता है कि बीजेपी को हराने के लिए कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा है."

आरजेडी नेता ने कहा कि बीजेपी को सत्ता से बाहर रखने के लिए नीतीश कुमार के साथ हाथ मिलाने में कोई पेच नहीं है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, "आरजेडी का कभी भी नीतीश कुमार के साथ कोई पेच नहीं था और आज भी हमारे पास कोई दिक्कत नहीं है." उन्होंने संकेत दिया कि बीजेपी को सत्ता से बाहर रखने के लिए एक साथ आने के फार्मूले पर चर्चा करने के लिए जेडीयू और आरजेडी के बीच पिछले दरवाजे से बातचीत चल रही थी. रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि जेडीयू के कई नेता बीजेपी को धूल चटाने और आरजेडी से हाथ मिलाने के मौके का इंतजार कर रहे थे.

हालांकि, उन्होंने कहा कि अगर महागठबंधन के नेता नीतीश कुमार और आरजीडी साथ आएंगे तो यह मुद्दा है कि बाद में बहस का विषय बन सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें