scorecardresearch
 

रिलायंस फाउंडेशन ने कोविड मरीजों की मदद के लिए प्रयास तेज किए, मुंबई में 775 निःशुल्क बेड प्रदान करेंगे

Impact Feature

देश की औद्योगिक राजधानी मुंबई में कोविड के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए रिलायंस फाउंडेशन ने मरीजों की सेवा के अपने प्रयास तेज कर दिए हैं, ताकि लोगों को राहत मिले और सरकार की महामारी के विरुद्ध जारी मुहिम को बल मिले.

कोरोना से जंग में रिलायंस फाउंडेशन का प्रयास. (सांकेतिक तस्वीर) कोरोना से जंग में रिलायंस फाउंडेशन का प्रयास. (सांकेतिक तस्वीर)

देश की औद्योगिक राजधानी मुंबई में कोविड के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए रिलायंस फाउंडेशन ने मरीज़ों की सेवा के अपने प्रयास तेज कर दिए हैं, ताकि लोगों को राहत मिले और सरकार की महामारी के विरुद्ध जारी मुहिम को बल मिले. कोविड के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार और बृहन्मुंबई कॉर्पोरेशन के साथ अपने सहयोग को और बढ़ाते हुए रिलायंस ने 4 नए कदम उठाने का फ़ैसला किया है.

1. सर एच एन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल NSCI में 650 बेड की फ़ेसिलिटी चलाएगा.

· रिलायंस फ़ाउंडेसन 100 नए ICU बेड बनाकर चलाएगी जो चरणबद्ध तरीके से 15 मई, 2021 से उपलब्ध होने लगेंगे

· सर एन रिलायंस फ़ाउंडेशन अस्पताल 1 मई से 550 बेड के एक वॉर्ड का प्रबंधन संभाल लेगा. ये 550 बेड इस वक्त भी मरीज़ों को उपलब्ध हैं

· इस तरह सर एन रिलायंस फ़ाउंडेशन अस्पताल तकरीबन 650 बेड का प्रबंधन संभालने लगेगा

· डॉक्टरों और नर्सों सहित फ़्रंटलाइन स्टाफ़ के 500 से ज़्यादा सदस्य चौबीसों घंटे मरीज़ों की सहायता के लिए उपलब्ध होंगे

· इस प्रॉजेक्ट में काम आने वाली सभी चीज़ों, जैसे कि ICU बेड, मॉनीटर, वेंटिलेटर सहित अन्य चिकित्सा संबंधित मशीनों और 650 बेड के खर्च का वहन रिलायंस फ़ाउंडेशन करेगी

· NSCI और SevenHills अस्पताल के सभी कोरोना-पीड़ित मरीज़ों का इलाज नि:शुल्क होगा

2. पिछले साल मुंबई में रिलायंस फ़ाउंडेशन और बृहन्मुंबई कॉर्पोरेशन ने मिलकर देश का पहला कोविड अस्पताल बनाया था – SevenHills अस्पताल. इसमें 225 बेड थे, जिनमें से 25 ICU बेड सहित 100 बेड का प्रबंधन सर एच एन रिलायंस फ़ाउंडेशन कर रहा है. SevenHills अस्पताल में अब 25 ICU बेड बढ़ाए जा रहे हैं. इस तरह रिलायंस फ़ाउंडेशन के प्रबंधन में 125 बेड हो जाएंगे, जिनमें से 45 ICU बेड होंगे.

3. मुंबई के बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स में ट्रायडेंट होटल में जो 100 बेड तैयार किए जा रहे है – उन्हें ऐसे कोविड-पीड़ित मरीज़ों के लिए उपयोग मे लिया जाएगा जिन्हें या तो बीमारी के लक्षण नहीं हैं, या फिर जिनके लक्षण गंभीर नहीं हैं. इन मरीज़ों का इलाज बीएमसी के दिशा-निर्देशों के मुताबिक किया जाएगा.

कुल मिलाकर रिलायंस फ़ाउंडेशन अस्पताल लगभग 875 बेड का प्रबंधन संभालेगा, जिनमें से 145 ICU बेड होंगे – ये बेड SevenHills अस्पताल और ट्रायडेंट होटल (BKC) में होंगे. देश के किसी भी कल्याणकारी संगठन ने कोविड के मरीज़ो की सेवा का इतना बड़ा दायित्व नहीं उठाया है.

रिलायंस फ़ाउंडेशन ने कोविड के मरीज़ों के इलाज के लिए जो नए क़दम उठाए हैं, उनके बारे में संगठन की चेयरपर्सन श्रीमती नीता अंबानी ने कहा, “देश की सेवा के लिए रिलायंस फ़ाउंडेशन सदैव तत्पर रहता है. कोविड की महामारी का मुकाबला करने के लिए भारतवर्ष को और मज़बूत करना हम सबका कर्तव्य है. बेहतरीन चिकित्सा सेवा प्रदान करते हुए हमारे डॉक्टरों और फ़्रंटलाइन स्टाफ़ ने अथक प्रयासों के जरिए कई मरीज़ों की जान बचाने में मदद की है. सर एच एन रिलायंस फ़ाउंडेशन अस्पताल मुंबई शहर में 875 बेड का प्रबंधन संभालकर महामारी का मुकाबला करने में मदद कर रहा है.”

वो आगे कहती हैं, “ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए हम रोज 700 मेट्रिक टन ऑक्सीजन गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, दमन दीव और नगर हवेली को नि:शुल्क दे रहे हैं. साथ ही हम और मदद बढ़ाने के प्रयास भी कर रहे हैं. मुंबई और देश के लिए हर संभव मदद करने को लेकर हम कटिबद्ध हैं. मिलकर ही हम इस महामारी का मुकाबला कर सकते हैं. कोरोना हारेगा, इंडिया जीतेगा.”

पिछले साल रिलायंस फाउंडेशन ने अन्न सेवा के तहत 5.5 करोड़ लोगों को भोजन कराया था. ये दुनिया में अपने जैसा सबसे बड़ा कार्यक्रम था.

कोविड का मुकाबला करने के लिए रिलायंस फाउंडेशन ने कुछ और क़दम भी उठाए हैं. जैसे:

· मुंबई के देवनार में स्पंदन होलिस्टिक मदर एंड चाइल्ड केयर अस्पताल में कोविड केयर फ़ेसिलिटी बनाई.

· सर एच एन अस्पताल ने बीएमसी के साथ मिलकर मुंबई के एचबीटी ट्रॉमा अस्पताल में 10 बेड का डायलिसिस सेंटर स्थापित किया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें