scorecardresearch
 

Omicron Symptoms: AIIMS ने बताए ओमिक्रॉन के 5 खतरनाक लक्षण, दिखने पर तुरंत करें डॉक्टर से संपर्क

भारत में कोरोना का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन अब डराने लगा है. तेजी से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, जिनमें नए वेरिएंट ओमिक्रॉन वाले केस भी शामिल हैं. कोरोना के जितने भी वैरिएंट अभी तक आए हैं, उनका व्यवहार और लक्षण अलग-अलग रहे हैं. ओमिक्रॉन की बात करें तो यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन एनालिसिस के मुताबिक, इसके चार सबसे आम लक्षण जिसमें खांसी, थकान, कफ और नाक बहना है. हालांकि एम्स (अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान) ने ओमिक्रॉन के पांच लक्षणों को सूचीबद्ध किया है.

X
(Image credit : Pexels and Pixabay) (Image credit : Pexels and Pixabay)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • तेजी से फैल रहा है ओमिक्रॉन
  • देश में omicron के 3000 से ज्यादा केस

Omicron Symptoms: भारत में एक बार फिर कोरोना ने रफ्तार पकड़ ली है. पिछले 24 घंटे में कोरोना के 1,17,100  नए केस सामने आए हैं. गुरुवार को 28.8 फीसद अधिक मामले मिले हैं. वहीं, कोरोना का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन भी अब डरा रहा है. नए वेरिएंट के अब तक देश में 3007 केस सामने आ चुके हैं. ओमिक्रॉन के लक्षणों के बारे में हेल्थ एक्सपर्ट्स के द्वारा समय-समय पर जानकारी दी जा रही है. हालांकि, यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन एनालिसिस ने इस वेरिएंट के चार सबसे आम लक्षण बताए हैं जिसमें खांसी, थकान, कफ और नाक बहना है. वहीं, एम्स ने ओमिक्रॉन के पांच लक्षणों को सूचीबद्ध करते हुए इन्हें अनदेखा ना करने की चेतावनी दी है. इन लक्षणों के दिखने का मतलब है कि आपका संक्रमण गंभीर है.

ओमिक्रॉन के 5 लक्षण (5 warning signs of Omicron) 
1-  सांस लेने में कठिनाई
2- ऑक्सीजन सैचुरेशन में गिरावट 
3- सीने में लगातार दर्द/दबाव महसूस हो
4- मेंटल कन्‍फ्यूजन या या प्रतिक्रिया न दे पाएं
5- अगर लक्षण 3-4 दिन से ज्‍यादा रहें या बिगड़ते जाएं

हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर अचानक त्वचा, होंठ या नाखून का रंग बदल रहा हो तो भी अलर्ट हो जाने की जरूरत है.

कब कराएं टेस्ट

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, अगर कोई भी वायरस के संपर्क में आता है, तो उसे संपर्क में आने के 5 दिन बाद या जैसे ही कोई लक्षण दिखाई दे, तुरंत टेस्ट कराना चाहिए. यदि किसी को लक्षण दिखते हैं, तो उसको तुरंत क्वारंटाइन हो जाना चाहिए, जब तक कि नेगेटिव रिपोर्ट न आ जाए. 

इलिनॉइस डिपार्टमेंट ऑफ पब्लिक हेल्थ के निदेशक डॉ. नगोजी इजीके (Dr. Ngozi Ezik) के अनुसार, संक्रमित होने और उसके लक्षण दिखने के बीच का समय बदल सकता है, लेकिन जो लोग जल्दी टेस्ट करा लेते हैं, उन्हें नेगेटिव रिपोर्ट आने के कुछ दिन बाद भी टेस्ट कराना चाहिए. 

अगर लक्षण दिख रहे हैं और फिर आपने तुरंत टेस्ट कराया है और वो टेस्ट नेगेटिव आया है तो यह नहीं सोच लेना है, कि आप नेगेटिव हैं. कोविड के कुछ ऐसे लक्षण जैसे गले में खराश, सिरदर्द, हल्का बुखार, बदन दर्द भी हैं. अगर रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद आपको इनमें से कुछ लक्षण दिखें तो कुछ दिन बाद फिर से कोविड टेस्ट कराएं.

क्वारंटाइन और आइसोलेट कब होना चाहिए

जिन्हें लगता है कि वे किसी ऐसे शख्स के संपर्क में आए हैं जो कि कोविड पॉजिटिव है और उन्हें वैक्सीन नहीं लगी हुई है, तो उन्हें खुद को तुरंत क्वारंटाइन कर लेना चाहिए. इसके बाद देखना चाहिए कि लक्षण दिख रहे हैं या नहीं. अगर लक्षण नहीं दिखते हैं तो एक्सपर्ट की सलाह पर क्वारंटाइन से बाहर आ सकते हैं. वहीं, जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है, भले ही उनका वैक्सीनेशन हुआ हो, उन्हें तुरंत आइसोलेट हो जाना चाहिए. 

देश में एक्टिव केस 3.7 लाख
भारत में एक्टिव केस बढ़कर 3.71 लाख हो गए हैं. पिछले 24 घंटे में 85,962 एक्टिव केस बढ़े हैं. देश में अब तक 1,49,66,81,156 वैक्सीन की डोज लग गई हैं. वहीं, पिछले 24 घंटे में 94,47,056 डोज लगी हैं.

देश में omicron के 3000 से ज्यादा केस
देश में ओमिक्रॉन के अब तक 3007 केस सामने आ चुके हैं. हालांकि, इनमें से 1199 लोग ठीक भी हो चुके हैं. सबसे ज्यादा केस महाराष्ट्र में 876, दिल्ली में 465, कर्नाटक में 333, राजस्थान में 291, केरल में 284, गुजरात में 204 केस सामने आए हैं. वहीं, तमिलनाडु में 121, हरियाणा में 114, तेलंगाना में 107, ओडिशा में 60, उत्तर प्रदेश में 31, आंध्र प्रदेश में 28, बंगाल में 27, गोवा में 19, असम में 9, मध्यप्रदेश में 9, उत्तराखंड में 8 केस सामने आ चुके हैं.   

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें