scorecardresearch
 

Frequent Urination: बार-बार यूरिन आना हो सकता है इन गंभीर बीमारियों का संकेत! हल्के में लेने की ना करें भूल

Frequent Urination: कुछ लोगों को बार-बार यूरिन जाना होता है. इस कारण वे कोई भी लिक्विड चीज पीने से बचते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है अगर वे लिक्विड चीज पिएंगे तो उन्हें फिर यूरिन के लिए जाना पड़ेगा. लेकिन क्या आप जानते हैैं कि बार-बार यूरिन जाना कुछ गंभीर बीमारियों का संकेत भी हो सकता है.

X
(Image credit: Getty images)
(Image credit: Getty images)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कुछ लोगों को बार-बार यूरिन जाने की जरूरत होती है
  • बार-बार यूरिन आना कुछ बीमारियों का संकेत हो सकता है
  • फ्रिक्वेंटली यूरिनेशन होने पर डॉक्टर से मिलें

पानी पीने के कुछ समय बाद पेशाब या यूरिनेट के लिए जाना एक आम बात है. इसके अलावा, कुछ लोग दिन में 3-5 बार भी यूरिनेट के लिए जाते हैं. लेकिन कई लोगों को दिन में कई बार पेशाब लगती है. बार-बार यूरिन आना कुछ शारीरिक समस्याओं के कारण भी हो सकता है. यानी हो सकता है, बार-बार यूरिन पास करने के लिए जाना कोई बीमारी का संकेत हो. इसलिए इस ओर ध्यान देना काफी जरूरी है कि कहीं आप भी तो अधिक बार यूरिन पास करने नहीं जा रहे? अगर आपको ऐसा लगता है कि आप नॉर्मल से अधिक यूरिन जाते हैं, तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ें.

बार-बार यूरिनेशन क्या है (What is frequent urination)

अगर कोई व्यक्ति 24 घंटे के टाइम पीरियड में बार-बार यूरिन करने जाता है, तो उसे फ्रिक्वेंटली यूरिनेशन की श्रेणी में रखते हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, अगर कोई व्यक्ति 24 घंटे में 8 बार या उससे अधिक यूरिन के लिए जाता है, तो वह इस श्रेणी में आएगा. बार-बार यूरिनेशन के कुछ कारण भी हो सकते हैं. बार-बार यूरिनेशन से नींद खराब होती है. यूरिन से भरे हुए ब्लैडर के कारण रात भर नींद नहीं आती और आप जागते रहते हैं, उस स्थिति को निक्टुरिया कहा जाता है. कई मामलों में डॉक्टर से सलाह लेने पर इस समस्या को दूर किया जा सकता है. 

बार-बार यूरिन आने का कारण (Causes frequent urination)

(Image Credit : Getty images)

कई अलग-अलग स्थितियां हैं, जिनके कारण बार-बार यूरिन आता है. इनमें से कई कारण आपकी उम्र, लिंग या संभवत: दोनों पर आधारित होते हैं. हो सकता है, आप अलग-अलग कारणों से अपने पूरे जीवन में कई बार इस समस्या को अनुभव करते हैं. ये स्थितियां मामूली और आसानी से मैनेज करने वाली भी हो सकती हैं. लेकिन कुछ परिस्थितियों में ये गंभीर भी हो सकती हैं. जैसे

यूरिनरी ट्रैक और ब्लैडर की स्थिति (Urinary tract and bladder position): यूरिनरी ट्रैक और ब्लैडर की स्थिति बार-बार यूरिन आने वाली सबसे कॉमन स्थिति है. इस स्थिति में मूत्र मार्ग में संक्रमण (यूटीआई) होने से भी यह समस्या हो सकती है. यूटीआई के दौरान बाहरी संक्रमण शरीर में प्रवेश करता है और आपके यूरिन के रास्ते में सूजन का कारण बनता है. बहुत ही गंभीर मामलों में बार-बार यूरिन आना मूत्राशय के कैंसर का लक्षण हो सकता है.

डायबिटीज (Diabetes): बार-बार यूरिन आना डायबिटीज का एक बहुत ही सामान्य लक्षण है. यदि आपको टाइप 1 या टाइप 2 डायबिटीज है, तो आपको यह समस्या हो सकती है. 

प्रोस्टेट की समस्याएं (Prostate problems): प्रोस्टेट एक गोल्फ-बॉल के आकार की ग्रंथि होती है, जो स्खलन के दौरान निकलने वाले कुछ तरल पदार्थ बनाती है. आपका प्रोस्टेट शरीर के साथ-साथ बढ़ता है, लेकिन अगर इसका आकार अधिक बढ़ जाता है तो यह समस्या पैदा कर सकता है. बड़ा प्रोस्टेट आपके यूरिनरी सिस्टम पर दबाव डाल सकता है और बार-बार पेशाब आने का कारण बन सकता है. 

अन्य कारण (Other causes):

  • स्ट्रोक
  • प्रेग्नेंसी
  • पैल्विक ट्यूमर होना
  • मूत्रवर्धक दवाइयों का प्रयोग
  • बहुत अधिक शराब या कैफीन पीना

बार-बार यूरिनेशन को कैसे कंट्रोल करें (How to control frequent urination)

अगर किसी को बार-बार पेशाब आने की समस्या है, तो उसे अपनी लाइफस्टाइल में भी कुछ बदलाव करने चाहिए. साथ ही साथ इसे सही करने के लिए बिना दवाइयों के कुछ तरीकों को भी अपनाना चाहिए. जैसे

  • सोने से पहले लिक्विड पदार्थ न पिएं.
  • अल्कोहल और कैफीन की मात्रा को सीमित करें
  • पेल्विक मसल्स की मजबूती के लिए केगेल एक्सरसाइज करें. ये मांसपेशियां आपके मूत्राशय मार्ग को मजबूती देती हैं. 
  • अगर कोई ऐसी दवाई लेते हैं, जो शरीर से लिक्विड बाहर निकालती हो, उसके बारे में डॉक्टर से परामर्श करें.

(Disclaimer: कोई भी तरीका अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें, ताकि वो आपको आपकी स्थिति के आधार पर सही सलाह दे पाए.) 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें