scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: पुलवामा हमले का नहीं है वायरल हो रहा धमाके का वीडियो

पुलवामा आतंकी हमले को लेकर कुछ लोग सोशल मीडिया पर फर्जी खबरें यानी फेक न्यूज फैला रहे हैं. तमाम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप पर नौ सेकेंड का एक वीडियो शेयर किया जा रहा है, जिसमे एक धमाका होता है जिसके बाद आग और धुएं का गुबार देखा जा सकता है. दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो पुलवामा में हुए आतंकी हमले का है.

यह तस्वीर पुलवामा धमके की नहीं (सोशल मीडिया) यह तस्वीर पुलवामा धमके की नहीं (सोशल मीडिया)

पुलवामा आतंकी हमले को लेकर कुछ लोग सोशल मीडिया पर फर्जी खबरें यानी फेक न्यूज फैला रहे हैं. तमाम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप पर नौ सेकेंड का एक वीडियो शेयर किया जा रहा है, जिसमे एक धमाका होता है जिसके बाद आग और धुएं का गुबार देखा जा सकता है. दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो पुलवामा में हुए आतंकी हमले का है.

पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है.

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA)ने पड़ताल में पाया कि वायरल हो रहा वीडियो पुलवामा आतंकी हमले का नहीं बल्कि हाल ही सीरिया में हुए कार बम धमाके का है.

फेसबुक पेज "Indian ARMY GROUP " ने यह वीडियो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा: 'पुलवामा के आतंकवादी हमले का CCTV वीडियो...ये वीडियो सामने आया है.' इस वीडियो को अब तक 2,200 से ज्यादा बार देखा जा चुका है, जबकि यह वीडियो फेसबुक, ट्विटर और वॉट्सएप पर तेजी से वायरल हो रहा है.

वायरल वीडियो को जब हमने इंटेल टेक्निक्स की मदद से रिवर्स सर्च किया तो पाया कि यह वीडियो पुलवामा का नहीं बल्कि सीरिया का है. सीरिया-तुर्की बॉर्डर पर स्थित अल-राय टाउन के बाहरी इलाके में मंगलवार, 12 फरवरी को कार बम धमाका हुआ था, जिसमें न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार तीन पुलिसकर्मी और चार नागरिक घायल हुए थे. स्काई न्यूज अरब सहित स्थानीय मीडिया संस्थानों ने भी इस घटना को कवर किया था.

पड़ताल में ये साफ हुआ कि वायरल हो रहा वीडियो जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले का नहीं बल्कि सीरिया का है.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया पर मौजूद लोग

दावा

पुलवामा में हुए आतंकी हमले का सीसीटीवी फुटेज

निष्कर्ष

वायरल वीडियो पुलवामा आतंकी हमले की नहीं बल्कि 12 फरवरी को सीरिया—तुर्की बॉर्डर पर हुए कार बम धमाके का है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया पर मौजूद लोग
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें