scorecardresearch
 

फैक्ट चेकः क्या वायनाड में राहुल गांधी के स्वागत में लहराए गए पाकिस्तानी झंडे?

कई फेसबुक और ट्वीटर यूजर्स ने वीडियो पोस्ट किए जिसमें राहुल की तस्वीर लिए लोग हरे झंडे लेकर नारे लगाते दिखे. दावा किया जा रहा है कि वायनाड में राहुल गांधी के प्रचार में पाकिस्तानी झंडों का इस्तेमाल किया गया. जानते हैं क्या है यह सच्चाई...

31 मार्च को वलनाड से राहुल गांधी के लड़ने का ऐलान हुआ (फाइल-PTI) 31 मार्च को वलनाड से राहुल गांधी के लड़ने का ऐलान हुआ (फाइल-PTI)

केरल के वायनाड से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के चुनाव लड़ने के ऐलान से बहुत पहले ही सोशल मीडिया पर उनके इस फैसले की आलोचना होने लगी थी.

कई फेसबुक और ट्वीटर यूजर्स ने वीडियो पोस्ट किए जिसमें राहुल की तस्वीर लिए लोग हरे झंडे लेकर नारे लगाते दिखे. दावा किया जा रहा है कि वायनाड में राहुल गांधी के प्रचार में पाकिस्तानी झंडों का इस्तेमाल किया गया.

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम ने अपनी जांच में पाया कि ये दावा गलत है. चांद सितारे वाला झंडा, पाकिस्तान का नहीं बल्कि राजनीतिक दल इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (IUML) का है जो केरल में कांग्रेस की बनाई यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट की सहयोगी पार्टी है.

26 मार्च को फेसबुक यूजर ‘चौकीदार बी के मिश्रा’ ने 25 सेकेंड का ये वीडियो पोस्ट किया जिसमें ‘न्यूज 18 मलयालम’ का लोगो लगा हुआ था.

इस वीडियो में कुछ लोग राहुल गांधी के समर्थन में नारे लगा रहे थे और उनके साथ राहुल का एक बड़ा सा कटआउट था. इस वीडियो में कुछ लोग हरे झंडे लहराते नजर आ रहे हैं. इस झंडे में सफेद सितारे और एक चांद बना हुआ है. इस वीडियो के साथ लिखा है “राहुल गांधी के नये चुनाव क्षेत्र वायनाड (केरल) में पाकिस्तानी झंडों के साथ राहुल गांधी का चुनाव प्रचार”

इस पोस्ट को खबर लिखे जाने तक करीब 1700 लोगों ने शेयर किया है. इस पोस्ट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है.

यही वीडियो इसी दावे के साथ ट्वीटर पर भी खूब शेयर किया जा रहा है. यूजर चौकीदार प्रेरणा ने इस वीडियो के साथ लिखा. “राहुल वायनाड से चुनाव लड़ रहे हैं देखिए कौन वहां पाकिस्तानी झंडे लेकर खुशियां मना रहे हैं, अब पता चला कि राहुल गांधी ने ये चुनाव क्षेत्र क्यों चुना.

यूजर प्रेरणा ने इसमें प्रधानमंत्री को भी टैग किया है.

एक और यूजर रिषभ कुमार जैन ने भी इसी वीडियो को इसी दावे के साथ यूट्यूब पर पोस्ट किया है.

जब हमने राहुल से जुड़े वीडियो की तलाश शुरू की तो हमें वायनाड में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के दो वीडियो मिले. दोनों वीडियो एशियानेट न्यूज और मातृभूमि चैनलों के थे.

वेबसाइट ‘My Nation’ ने 25 मार्च 2019 को मलयालम न्यूज चैनल एशियानेट न्यूज का एक वीडियो इस्तेमाल किया है. इसके साथ लिखा गया, “आधिकारिक ऐलान से पहले ही यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता राहुल की उम्मीदवारी का जश्न मनाते हुए.”

इस वीडियो में भी कुछ सेकेंड के बाद एक आदमी हरे झंडे लहराता नजर आ रहा है जिसमें चांद सितारे बने हैं और उसके पीछे राहुल की बड़ी सी तस्वीर है.

मातृभूमि न्यूज ने ये खबर 31 मार्च को दिखाई जिसमें कहा गया कि “वायनाड से राहुल की उम्मीदवारी से यूडीएफ में जबरदस्त उत्साह है.”

इस वीडियो के अंत में रिपोर्टर अपनी बात कहता है जिसके पीछे भी लोग राहुल गांधी की फोटो और हरे झंडे लिए हुए हैं.

केरल में यूडीएफ 6 पार्टियों का गठबंधन है जो मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं. इसमें कांग्रेस के साथ मुस्लिम लीग भी शामिल है. गठबंधन का सहयोगी होने के नाते राहुल गांधी की उम्मीदवारी का मुस्लिम लीग ने स्वागत किया. कई मीडिया रिपोर्ट्स में इसकी पुष्टि होती है.

इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (IUML) पार्टी का झंडा हरा है और उसके बाएं कोने पर चांद सितारे बने हुए हैं.

वहीं पाकिस्तान के झंडे में भी हरा रंग है और चांद सितारे हैं लेकिन मुस्लिम लीग और पाकिस्तानी झंडे में आसानी से अंतर किया जा सकता है.

इसलिए ये साफ तौर पर कहा जा सकता है कि वायनाड में राहुल गांधी के समर्थन में प्रचार के दौरान पाकिस्तानी झंडे नहीं लहराए गए.

फैक्ट चेक

फेसबुक यूजर चौकीदार बीके मिश्रा और ट्वीटर यूजर चौकीदार प्रेरणा

दावा

वायनाड में राहुल गांधी के प्रचार में लहराये गए पाकिस्तानी झंडे.

निष्कर्ष

ये वायरल दावा झूठा है. चांद सितारे वाला झंडा पाकिस्तान का नहीं बल्कि कांग्रेस की सहयोगी इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग(IUML) का है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
फेसबुक यूजर चौकीदार बीके मिश्रा और ट्वीटर यूजर चौकीदार प्रेरणा
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें