scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: चाइनीज रोबोट्स नहीं, असली कलाकारों की है ये डांस परफॉर्मेंस

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है. वीडियो में दिख रहे आर्टिस्ट कोई रोबोट नहीं, बल्कि डांस आर्टिस्ट हैं, जिनका नाम एबी क्लैंसी और अल्जाज़ स्कोर्जेनेक है.

सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल हो रही है. सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल हो रही है.

सोशल मीडिया पर एक शानदार डांस परफॉर्मेंस का वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि वीडियो में दिख रहे डांसिंग आर्टिस्ट इंसान नहीं, बल्कि चीन में बने रोबोट्स हैं और ये परफॉर्मेंस चीनी क्लासिकल डांस है जो शंघाई के डिजनीलैंड में दिखाया गया था.

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है. वीडियो में दिख रहे आर्टिस्ट कोई रोबोट नहीं, बल्कि डांस आर्टिस्ट हैं, जिनका नाम एबी क्लैंसी और अल्जाज़ स्कोर्जेनेक है.

एक फेसबुक यूजर ने 1 मिनट 37 सेकेंड के इस वीडियो को शेयर करते हुए अंग्रेजी में  कैप्शन लिखा, जिसका हिंदी अनुवाद कुछ इस तरह है, "चाइनीज डांस, रोबॉट्स डांस...सोचा कि आप इसे देखना पसंद करेंगे. सुनिश्चित करें कि आप वीडियो देखने के बाद नीचे दिए गए टेक्स्ट को पढ़ेंगे. यह शास्त्रीय नृत्य चीन का है और शंघाई डिज़नीलैंड में ब्रॉडकास्ट हुआ था. वे डांसिंग आर्टिस्ट नहीं हैं, बल्कि चीन में बने रोबोट हैं. प्रदर्शन केवल 5 मिनट का है, लेकिन टिकट लेने के लिए वेटिंग 4 घंटे की है और टिकट की कीमत 499 युआन ($75) है. यह जापान की तुलना में अधिक जटिल है और इसमें चेहरे के  भाव सही हैं. *** दोनों नर्तक रोबोट हैं! *** ये दिखने में इतने असली हैं कि इन्हें असली लोगों से अलग नहीं कहा जा सकता है. जल्द ही वे हमारे साथ घूमेंगे और हमें पता भी नहीं चलेगा.” ये वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है. पोस्ट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है.

क्या है सच्चाई?
हमने वायरल वीडियो के कीफ्रेम्स काटे और कुछ कीवर्ड्स के साथ उन्हें  रिवर्स सर्च करने पर हमें BBC के यूट्यूब चैनल पर ठीक वैसा ही वीडियो मिला जैसा सोशल मीडिया पर वायरल है. ये वीडियो दिसंबर 2013 का है, जिसके मुताबिक, इसमें डांस कर रहे आर्टिस्ट एबी क्लैंसी और अल्जाज़ हैं. एबी और अल्जाज़ वीडियो में जिस डांस की प्रस्तुति दे रहे हैं, उसे विनीज़ वाल्ट्ज  (Viennese Waltz ) कहते हैं.

दरअसल, ये वीडियो यूके के एक रियलिटी शो 'स्ट्रिक्टली कम डांसिंग' के दौरान का है. इस डांस शो में ब्रिटेन के चहेते सितारों और प्रोफेशनल डांसर्स का जोड़ा बनाकर उनमें मुकाबला कराया जाता है. वीडियो में दिख रही महिला आर्टिस्ट एबी क्लैंसी  हैं, जो ब्रिटिश टेलीविज़न स्टार हैं और उनके साथ डांस कर रहे डांसर का नाम अल्जाज़ स्कोर्जेनेक है. द गार्जियन के एक न्यूज आर्टिकल के मुताबिक, 2013 में हुए स्ट्रिक्टली कम डांसिंग रियलिटी शो के विजेता एबी क्लैंसी और अल्जाज़ स्कोर्जेनेक थे.

डिज़्नी के रोबोटिक अविष्कारों के बारे में खोजने पर हमें 'सीएनबीसी' के यूट्यूब चैनल का एक वीडियो मिला जिसके मुताबिक, डिज़्नी इमेजिनियरिंग रिसर्च और डेवलपमेंट लैब ने एक ऐसा रोबोट बनाया जो एक वास्तविक स्टंट करते हुए हवा में झूलता हुआ फ़्लिप कर सकता है.पड़ताल से ये साफ हो जाता है कि वीडियो में जो दो लोग खूबसूरत नृत्य की प्रस्तुति दे रहे हैं वे कोई रोबोट नहीं बल्कि यूके के एक टेलीविजन शो के डांस आर्टिस्ट हैं.

(सोनाली खट्टा के इनपुट के साथ)

 

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

डांस परफॉर्मेंस का एक वीडियो जिसमें डांस कर रहे आर्टिस्ट इंसान नहीं, बल्कि चीन में बने रोबोट्स हैं.

निष्कर्ष

वायरल वीडियो यूके के एक टेलीविजन रियलिटी शो का है जिसमें कोई रोबोट नहीं बल्कि एबी क्लैंसी और अल्जाज़ स्कोर्जेनेक नाम के कलाकार अपनी प्रस्तुति दे रहे हैं.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें