scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: 'फिगर' की वजह से निलंबित हुई पाकिस्तानी टीचर? मनगढ़ंत है ये वायरल कहानी

सोशल मीडिया पर सलवार-कमीज पहने एक महिला की तस्वीर वायरल हो रही है. इसके साथ दावा किया जा रहा है कि ये महिला पाकिस्तान के लाहौर की एक टीचर आसिया जुबैर है, जिसे स्कूल ने उनके फिगर की वजह से निलंबित कर दिया.

X
वायरल तस्वीर वायरल तस्वीर

सोशल मीडिया पर सलवार-कमीज पहने एक महिला की तस्वीर वायरल हो रही है. इसके साथ दावा किया जा रहा है कि ये महिला पाकिस्तान के लाहौर की एक टीचर आसिया जुबैर है, जिसे स्कूल ने उनके “फिगर” की वजह से निलंबित कर दिया.

फेसबुक पर इसी तस्वीर को पोस्ट करते हुए एक यूजर ने लिखा, “पाकिस्तान के लाहौर में फिगर की वजह से टीचर को निलंबित किया गया”.

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि ये दाव झूठा है. तस्वीर में दिख रही महिला एक भारतीय मॉडल है. इसके अलावा, पाकिस्तान में किसी विश्वसनीय स्रोत से ऐसी किसी घटना की कोई जानकारी सामने नहीं आई है. वायरल तस्वीर के ऊपर कथित तौर पर “आसिया जुबैर” के एक ट्वीट का स्क्रीनशॉट भी सुपरइम्पोज किया गया है, जिसमें वे बता रही हैं कि स्कूल में उन्हें कैसे कड़वे अनुभवों से गुजरना पड़ा.

इस कथित ट्वीट में लिखा है, “मुझे अपने स्कूल प्रशासन से एक टर्मिनेशन लेटर मिला जिसमें कहा गया है कि सेकेंड्री स्कूल के स्टूडेंट को पढ़ाने के लिए मेरी बॉडी बहुत ज्यादा 'फिट' या 'कामुक' है. हम आमतौर पर अपने स्कूल में दुपट्टे के साथ मर्यादित  शलवार कमीज पहनते हैं, मुझे नहीं पता कि वे मुझसे और क्या चाहते थे? हास्यास्पद है. #TooSexyToWorkSoFired,”  

इसी तरह के कुछ और पोस्ट के आर्काइव यहां, यहां और यहां देखे जा सकते हैं.

AFWA की पड़ताल

रिवर्स इमेज सर्च की मदद से हमने पाया कि वायरल तस्वीर “Republic of Buzz” नाम की एक वेबसाइट पर 17 अगस्त को एक लेख के साथ छपी है जिसमें ऐसा ही दावा किया गया है.

इस लेख में बताया गया है कि “महिला का नाम आसिया जुबैर है. वह 30 साल की शादीशुदा महिला है, जिसके दो बच्चे हैं. पिछले 12 सालों से वह बतौर टीचर पढ़ा रही है. मंगलवार, 11 अगस्त, 2020 को उसे इस आधार पर स्कूल से निकाल दिया गया कि माध्यमिक कक्षा के छात्रों को पढ़ाने के लिए वह 'बहुत कामुक' है.”

हालांकि, हमें पाकिस्तान से रिपोर्ट करने वाले किसी प्रतिष्ठित संस्थान में ये खबर नहीं मिली.

AFWA ने 'गल्फ न्यूज' के पाकिस्तान ब्यूरो चीफ मुहम्मद रिजवान सफदर से संपर्क किया. उन्होंने स्पष्ट किया कि पाकिस्तान के लाहौर में ऐसी कोई घटना सामने नहीं आई है. उन्होंने कहा, “हमें लगता है कि ये लेख किसी प्रोपेगैंडा का हिस्सा रहा होगा. लाहौर के किसी मीडिया संस्थान में ऐसी किसी घटना की सूचना नहीं है.”

ज्यादा जानकारी के लिए हमने इंटरनेट पर सर्च किया तो पता चला कि वायरल तस्वीर जोया शेख नाम की एक भारतीय मॉडल की है. हमने पाया कि यही तस्वीर जोया शेख के इंस्टाग्राम अकाउंट पर 14 फरवरी को अपलोड की गई है.

जोया के इंस्टग्राम प्रोफाइल के मुताबिक, वे एक्टर, फैशन ब्लॉगर और मॉडल हैं. इससे कम से कम ये तो साबित होता है कि वायरल तस्वीर किसी आसिया जुबैर की नहीं है.

आगे की पड़ताल में हमें आसिया जुबैर नाम का एक ट्विटर हैंडल मिला, जो बीते जून में बनाया गया है और इससे कुछ ही ट्वीट किए गए हैं. इस अकाउंट पर वैसा कोई ट्वीट नहीं है, जैसा कि वायरल तस्वीर पर सुपरइम्पोज किया गया है. हालांकि, इस ट्विटर हैंडल पर 19 अगस्त को “Republic of Buzz” के आर्टिकल का जिक्र किया गया है.

पड़ताल से स्पष्ट है कि पोस्ट में किया जा रहा दावा झूठा है. लाहौर की किसी स्कूल टीचर को उसके फीगर के कारण नौकरी से निकालने जैसी कोई घटना सामने नहीं आई है. इस गलत दावे के लिए एक भारतीय मॉडल की तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है.  

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

लाहौर की एक टीचर की तस्वीर, जिसे उसके स्कूल ने फिगर के कारण नौकरी से निकाल दिया.

निष्कर्ष

वायरल पोस्ट में एक भारतीय मॉडल की तस्वीर के साथ गलत दावा किया गया है. इसके अलावा, पाकिस्तान में ऐसी किसी घटना के बारे में कोई विश्वसनीय जानकारी मौजूद नहीं है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें