scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: क्या आपको भी मिला केबीसी की ओर से 25 लाख जीतने का मैसेज? ठगों से सावधान!

फेसबुक और वॉट्सएप पर ऐसे मैसेजों की बाढ़ आ गई है जिनमें केबीसी के नाम पर लोगों को बिना कुछ किए ही करोड़पति बनाने का दावा किया जा रहा है.

X
मैसेज की आई बाढ़ मैसेज की आई बाढ़

‘केबीसी’ गेम शो में जनरल नॉलेज से जुड़े सवालों का जवाब देकर रातोरात करोड़​पति बनने वालों की बहुत-सी कहानियां आपने सुनीं होंगी. लेकिन फेसबुक और वॉट्सएप पर ऐसे मैसेजों की बाढ़ आ गई है जिनमें केबीसी के नाम पर लोगों को बिना कुछ किए ही करोड़पति बनाने का दावा किया जा रहा है. कुछ-एक मैसेज में तो लोगों को करोड़पति बनाने के लिए इतने आसान और बचकाने सवाल पूछे जा रहे हैं जिन्हें देखकर हैरत होती है.

लोगों को वॉट्सएप पर भेजे गए ऐसे ही एक मैसेज में बताया जा रहा है कि आपने केबीसी की तरफ से 25 लाख रुपये जीते हैं. इसमें एक ‘केबीसी ऑफिसर’ का नंबर भी दिया है, साथ में हिदायत है कि ये पैसा अपने अकाउंट में ट्रांसफर करवाने के लिए इस नंबर पर संपर्क करें.

कई लोगों ने हमें इस तरह के मैसेजेज भेजकर इसकी सच्चाई जाननी चाही तो हमने इनमें से कुछ नंबरों पर संपर्क किया.

कॉल करते ही आ गई 25 लाख जीतने की खुशखबरी

इन मैसेजों की सच्चाई जानने के लिए हमने एक कथित ‘केबीसी ऑफिसर’ का नंबर डायल किया तो दूसरी तरफ मौजूद शख्स ने हमारा लॉटरी नंबर पूछा. मैसेज में लिखा नंबर बताने पर वो बोला कि पांच देशों में हुए ‘केबीसी डिपार्टमेंट’ के ‘इंटरनेशनल लकी ड्रॉ’ में हमारी 25 लाख की लॉटरी लगी है.

इसके बाद उसने एक ऑडियो रिकॉर्डिंग भेजी. इस रिकॉर्डिंग में नाम, बैंक का नाम, बैंक अकाउंट नंबर, पासपोर्ट साइज फोटो और आधार कार्ड आदि मांगा गया है. पूरा ऑडियो आप नीचे सुन सकते हैं.

इनाम तो मिलेगा, पर किसी को बताना मत

कथित ‘केबीसी ऑफिसर’ ने जो रिकॉर्डिंग भेजी, उसमें इनाम जीतने की बात गुप्त रखने के लिए कहा गया है, मानो ये कोई फिरौती की रकम हो. फोन पर बातचीत के दौरान जब हमने एक ‘केबीसी ऑफिसर’ की बात अपनी टीम के एक सदस्य से करवाने की कोशिश की तो वो भड़क गया. उसका कहना था कि उसके पास सिर्फ उसी व्यक्ति से बात करने की परमिशन है जो लकी ड्रॉ में जीता हो.

किसी नंबर पर नहीं लगती नॉर्मल कॉल

केबीसी लॉटरी के नाम पर जो मैसेज वायरल हो रहे हैं, उनमें दिए गए किसी भी नंबर पर नॉर्मल कॉल नहीं लगती. सभी पर सिर्फ वॉट्सएप ही काम कर रहा है. जाहिर है, ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि नॉर्मल कॉल को रिकॉर्ड करना आसान होता है. इन लोगों को डर है कि इनकी बातचीत को कोई रिकॉर्ड न कर ले और ये पकड़े न जाएं.

कौन हैं मैसेज भेजने वाले ये लोग

चूंकि मैसेज में दिए गए नंबरों पर ये लोग ज्यादा जानकारी नहीं दे रहे थे और ज्यादा पूछने पर उन्हें शक भी हो सकता था. इसलिए, हमने इनके बारे में तफ्तीश करने की शुरुआत इनमें से ही एक व्यक्ति की वॉट्सएप डीपी में लगी फोटो से की. इस फोटो में एक बेहद आलीशान ऑफिस में बैठा एक आदमी दिख रहा है.

ध्यान से देखने पर इस फोटो में हमें कुछ घालमेल लगा. जिस तरह के ऑफिस सेटअप में आदमी बैठा हुआ है, वो बेहद साधारण है. कुर्सी-मेज से लेकर कम्प्यूटर और पर्दा तक हर चीज बेहद साधारण लग रही है. वहीं फोटो के दूसरी तरफ का नजारा एकदम अलहदा है. चमचमाती दीवारें, डिजाइनर फॉल्स सीलिंग और अमिताभ बच्चन की तस्वीर वाला बड़ा-सा स्क्रीन. साफ पता लग रहा है कि ऑफिस में बैठे एक सामान्य आदमी की सेल्फी को किसी आलीशान ऑफिस की तस्वीर में जोड़कर एक फर्जी फोटो तैयार की गई है. ऐसा इसलिए किया गया ताकि देखने वालों को लगे कि ये केबीसी के ऑफिस में काम करने वाला कोई शख्स है.  

रिवर्स सर्च करने पर ये वॉट्सएप डीपी वाली फोटो हमें केबीसी के नाम पर चल रहे अलग-अलग फेसबुक पेजों पर मिली. साथ ही, इन फेसबुक पेजों पर हमें दो तस्वीरें ऐसी मिलीं जिनकी लोकेशन वॉट्सएप डीपी वाली तस्वीर से एकदम मेल खाती है. सभी में केबीसी के लोगो और अमिताभ बच्चन की तस्वीरें लगी हैं. एक तस्वीर में लोग एटीएम से पैसा निकालते हुए दिख रहे हैं. वहीं कुछ तस्वीरों में जमीन पर केबीसी का एक लोगो अलग से लगाया हुआ-सा दिखता है.

इन तस्वीरों के जरिये ये बताने की कोशिश की गई है कि ये जगह केबीसी गेम शो का आलीशान ऑफिस है. अगर आप गूगल पर केबीसी हेड ऑफिस सर्च करें तो आप भी ऐसी कई तस्वीरें देख सकते हैं.

ऑफिस केबीसी गेम शो का, लोगो केबीसी बैंक का

केबीसी ऑफिस के नाम पर शेयर की गई इन तस्वीरों में कई जगह ‘केबीसी बैंक’ का लोगो इस्तेमाल किया गया है ताकि प्रोफेशनल लुक दिखे. हकीकत ये है कि ‘केबीसी बैंक’ का केबीसी गेम शो से कुछ लेना-देना नहीं है. ‘केबीसी बैंक’ का हेडक्वार्टर बेल्जियम में है.

क्या सचमुच ये केबीसी के ऑफिस की फोटो है?

केबीसी हेड ऑफिस के नाम पर शेयर हो रही ये तस्वीरें हमने ‘सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन’ की प्रवक्ता को भेजीं. ‘कौन बनेगा करोड़पति’ शो इसी चैनल पर आता है. उन्होंने नाम न छापने की शर्त पर ‘आजतक’ को बताया कि ये तस्वीर ‘केबीसी’ या सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन के किसी भी कार्यक्रम से संबंधित नहीं हैं. केबीसी गेम शो की शूटिंग मुंबई स्थित फिल्म सिटी में होती है. ये शो सिद्धार्थ बासु की कंपनी ‘ट्री ऑफ नॉलेज’ बनाती है.

चैनल की प्रवक्ता ने आगे बताया, “केबीसी गेम शो की तरफ से इस तरह का कोई लॉटरी कॉन्टेस्ट नहीं चलाया जा रहा है जिसमें लोगों को 25 लाख रुपये दिए जा रहे हों.”

क्या है इस आलीशान ऑफिस की असलियत

केबीसी हेड ऑफिस के नाम पर इंटरनेट पर मौजूद ज्यादातर तस्वीरों में कुछ चीजें कॉमन हैं, जैसे छत से नीचे की ओर निकला नीले रंग का गुंबद, एक बड़ा-सा स्क्रीन और छत व फ्लोर का डिजाइन.

इन तस्वीरों के निचले हिस्से में केबीसी का लोगो वगैरह लगाकर छेड़छाड़ की गई है. यही वजह है कि इन्हें सर्च करने से हमें वैसी ही एडिट की हुई तस्वीरें मिल रही थीं. इसलिए हमने सिर्फ छत वाले हिस्से को क्रॉप करके खोजा.

ऐसा करने से हमें फोटो शेयरिंग वेबसाइट ‘पिंट्रेस्ट’ पर वो तस्वीरें मिल गईं जिन्हें चुराकर, एडिट करके उन्हें केबीसी का ऑफिस बनाकर पेश किया जा रहा है. पिंट्रेस्ट पर मौजूद कैप्शन के मुताबिक ये स्कॉटलैंड के एक रीटेल बैंक के डिजाइन की तस्वीरें हैं. पिंट्रेस्ट से डाउनलोड करके इन्हें कोई भी मनमुताबिक एडिट कर सकता है.

25 लाख के चेक का वीडियो डालकर दिलाया जा रहा यकीन

केबीसी के नाम पर चल रहे फेसबुक पेजों पर 25 लाख के चेक का वीडियो भी डाला गया है. ये यकीन दिलाने की कोशिश की गई है कि वाकई में 25 लाख रुपये का चेक लोगों को भेजा जा रहा है. ऐसे ही एक वीडियो में दिख रहे चेक में अमिताभ बच्चन के नाम की स्पेलिंग गलत लिखी हुई है.

केबीसी गेम शो के नाम पर चल रहे फेसबुक पेजों पर हमें कई कमेंट ऐसे भी दिखे जिनमें लोगों ने अपने साथ हुई हजारों रुपयों की ठगी की शिकायत की है.

वेबसाइट्स से भी फैलाया जा रहा फर्जीवाड़ा

केबीसी गेम शो के नाम पर ‘officialkbcwebsite.com’, ‘officialwebsiteofkbc.com’ ‘kbcofficialwinner.com’ और ‘kbcreal.com’ जैसी दर्जनों वेबसाइट्स भी चल रही हैं. इनमें से कई वेबसाइट्स में 25 लाख की लॉटरी प्रतियोगिता के बारे में जानकारी दी गई है. इस बारे में सोनी चैनल की प्रवक्ता ने बताया, “केबीसी गेम शो की कोई अलग वेबसाइट या सोशल मीडिया पेज नहीं है. शो से जुड़ी सभी जानकारियां सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन की आधिकारिक वेबसाइट और सोशल मीडिया हैंडल्स पर ही दी जाती हैं.”

साफ है कि केबीसी के नाम पर काफी बड़े पैमाने पर जालसाजी हो रही है. इतनी सारी फर्जी वेबसाइट्स और सोशल मीडिया पेजों की जांच कर पाना नामुमकिन है. पर इतनी बात तय है कि केबीसी गेम शो की तरफ से 25 लाख का कोई ईनाम नहीं दिया जा रहा है.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

ये ‘कौन बनेगा करोड़पति’ गेम शो का एक लकी ड्रॉ है जिसके जरिये 25 लाख रुपये जीते जा सकते हैं.

निष्कर्ष

‘कौन बनेगा करोड़पति’ शो की तरफ से इस तरह का कोई लकी ड्रॉ कॉन्टेस्ट नहीं चलाया जा रहा है. सोनी चैनल ने भी ‘आजतक’ से इस बात की पुष्टि की है. लोगों को 25 लाख जीतने का मैसेज भेजकर उन्हें ठगा जा रहा है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें