scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: हैदराबाद गैंगरेप के आरोपियों के नाम को दिया गया सांप्रदायिक रंग

अब सोशल मीडिया पर एक पोस्ट जमकर वायरल हो रही है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि हैदराबाद गैंगरेप के आरोपियों का नाम मोहम्मद पाशा, मोहम्मद इकबाल, मोहम्मद रहीम और मोहम्मद अकरम था.

वायरल तस्वीर वायरल तस्वीर

हैदराबाद गैंगरेप के चारों आरोपी शुक्रवार को पुलिस एनकाउंटर में मारे जा चुके हैं. बीते दिनों इस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर कई तरह की फर्जी खबरें फैलाई गईं और ये अब भी जारी है.

अब सोशल मीडिया पर एक पोस्ट जमकर वायरल हो रही है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि हैदराबाद गैंगरेप के आरोपियों का नाम मोहम्मद पाशा, मोहम्मद इकबाल, मोहम्मद रहीम और मोहम्मद अकरम था.

nasik_120619100822.png

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने अपनी पड़ताल में पाया कि पोस्ट में आरोपियों के नाम गलत बताए गए हैं. आरोपियों का असली नाम जोलू शिवा, जोलू नवीन और चिंताकुंटा चेन्नाकेशवुल और मोहम्मद आरिफ था.

whatsapp-image-2019-12-06-at-8_120619100628.jpeg

 

(Courtsey - Times of India)

वायरल पोस्ट को सांप्रदायिक रंग देकर शेयर किया जा रहा है. यह भ्रामक पोस्ट सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है.

viral-post_120619100910.png

ट्विटर पर भी इस गलत जानकारी को खूब शेयर किया जा रहा है.

इस बारे में खोजने पर हमें The Quint  की एक रिपोर्ट मिली, जिसमें चारों आरोपियों के नाम का जिक्र है. कुछ दिनों पहले Quint के संवाददाता ने चारों आरोपियों के परिवार वालों से बात की थी, जिसके बारे में इस रिपोर्ट में विस्तार से बताया गया है. आर्टिकल के मुताबिक, आरोपियों का असली नाम जोलू शिवा, जोलू नवीन और चिंताकुंटा चेन्नाकेशवुल और मोहम्मद आरिफ था.

इसके आलावा साइबराबाद पुलिस ने भी ट्विटर पर ये बात स्पष्ट कर दी है कि चारों आरोपियों का कोई एक धर्म से ताल्लुक नहीं. पुलिस के मुताबिक, एक आरोपी मुस्लिम था वहीं बाकी के तीन हिंदू. एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी पुलिस ने आरोपियों के नाम आरिफ, नवीन, शिवा और चेन्नाकेशवुल बताया था.

इससे पहले भी हैदराबाद में हुए इस जघन्य अपराध को अलग अलग ढंग से सांप्रदायिक रंग दिया जा चुका है. बूम लाइव  और ऑल्ट न्यूज  ने इस पर खबर भी की है.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

हैदराबाद गैंगरेप के आरोपियों का नाम मोहम्मद पाशा, मोहम्मद इकबाल, मोहम्मद रहीम और मोहम्मद अकरम था.

निष्कर्ष

आरोपियों के असली नाम जोलू शिवा, जोलू नवीन और चिंताकुंटा चेन्नाकेशवुल और मोहम्मद आरिफ थे.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें